संजीवनी टुडे

दूध से ज्यादा समझा घर की इज्जत, शौचालय के लिए बेच...

संजीवनी टुडे 17-04-2018 11:31:20

पटना। जागरूकता के अभाव में शौचालय नहीं बनवाने के तरह-तीह के बहानों के बीच बिहार की एक गरीब महिला ने उदाहरण पेश किया है। उसने घर की आय का जरिया गाय बेचकर शौचालय बनवाया है। बताया गया है की स्वच्छ भारत स्वस्थ भारत के तहत खुले में शौच से मुक्ति अभियान में जब लोगों को जागरूक किया जाने लगा तो तर्क और बहाने भी साथ-साथ चलने लगेे। पक्का मकान तो है पर शौचालय नहीं क्यों नहीं जवाब होता है पैसा नहीं है। लेकिन तेतरी देवी जैसी वृद्ध महिला इसकी सफलता के उस ध्वजवाहक के रूप में खड़ी हैं और जो समाज को आईना दिखा रही हैं। उन्होंने घर की इज्जत को दूध से ज्यादा जरूरी समझा।

सूत्रों के मुताबिक बताया गया है की बिहार के गया जिले में बाराचट्टी प्रखंड की सरमां पंचायत में एक गांव है तेवारीचक। तेतरी देवी यहीं की रहने वाली हैं। उनकी उम्र 70 वर्ष के करीब है। आर्थिक स्थिति अच्छी नहीं है इंदिरा आवास योजना से बने घर में पति और बेटे-बहू के साथ रह रही हैं। वह जीविका समूह की अध्यक्ष भी हैं बेटे की शादी की तो घर में मैट्रिक पास बहू आई है। तेतरी देवी कहती हैं कि बहू ने भी शौचालय पर जोर दिया। वह खुद इसे समझ रही थीं पर पैसे का अभाव था। बहू ने अपना जेवर दिया तो मना कर दिया कि यह उसकी अमानत है। फिर गाय बेचने का फैसला किया लेकिन गाय चली गई तो अब पति को दूध नहीं दे पाती हैं। वह कहती हैं कि गाय तो फिर आ जाएगी शौचालय जरूरी था। 

MUST WATCH

जानकारी के अनुसार, शौचालय बनाने के लिए ईंट, सीमेंट आदि चाहिए था। तेतरी देवी ने 14 हजार रुपये में गाय बेचकर पैसे का प्रबंध किया। अब वृद्ध पति व पूरा परिवार शौचालय निर्माण में जुट गया है। इस उम्र में वह स्वयं गड्ढे खोद रही हैं और मिट्टी उठा रही हैं। शौचालय निर्माण में यह उत्साह देखते ही बनता है। वह कहती है की अब दिक्कत तो हो गई है पर पैसे मिलने पर गाय फिर आ जाएगी और वह जीविका समूह की भी अध्यक्ष हैं तो पहले खुद शौचालय बनाना जरूरी था। तभी तो दूसरों को भी कह पाएंगी। 

Rochak News Web

More From state

Trending Now
Recommended