संजीवनी टुडे

पुलिस प्रशासन कर रहा कालियादेह महल पर हादसे का इंतजार!

संजीवनी टुडे 08-07-2019 02:45:00

रविवार को शहर के अधिसंख्य लोग परिवार के साथ कालियादेह महल पिकनिक मनाने जा पहुंचे। शिप्रा नदी के छोटे पुल से बाढ़ का पानी बह रहा था और इसी बीच यहां पर लोग मौसम का लुत्‍फ उठाने के लिए खतरनाक स्‍थान पर पहुंचे थे।


उज्‍जैन। रविवार को शहर के अधिसंख्य लोग परिवार के साथ कालियादेह महल पिकनिक मनाने जा पहुंचे। शिप्रा नदी के छोटे पुल से बाढ़ का पानी बह रहा था और इसी बीच यहां पर लोग मौसम का लुत्‍फ उठाने के लिए खतरनाक स्‍थान पर पहुंचे थे। जानकारी के अनुसार उज्‍जैन जिले में पिछले तीन दिनों से हो रही तेज बारिश के कारण जनजीवन अस्‍त व्‍यस्‍त हो गया है। इलाके कई नदी-नाले उफान पर अभी बह रहे हैं। रविवार को भी शिप्रा नदी पर बने पुल पर पानी बह रहा था। यहां पानी तेज गति से आगे बढ़ते हुए कालियादेह महल के सामने बने बावन कुण्डों पर झरना बना रहा था। महल के आगे शिप्रा नदी बावन कुण्डो से होकर बहती है। वहीं महल के पीछे से यही शिप्रा नदी बहती है। महल दोनों के बीच में है। आगे जाकर नदी की दोनों शाखाएं पुन: एक हो जाती हैं। 

रविवार को पर्यटक तीन तरफा खतरों से खेल रहे थे। कुछ बावन कुण्डों के करीब तक पहुंच गए थे तो अनेक महल के पीछे स्थित नदी के बहाव क्षेत्र में सेल्फी ले रहे थे। अनेक परिवार वो थे जो कालियादेह महल के जर्जर भवन के साये में पिकनिक का लुत्फ उठा रहे थे और खा-पी रहे थे। यह संयोग था कि सुबह धूप खिल गई थी और दिनभर मौसम खुला रहा। अन्यथा यदि तेज बारिश का दौर शुरू हो जाता तो यहां आए सैकड़ों पर्यटकों की जान पर बन आती। वे बारिश के बचने के लिए महल की ओर दौड़ते। 

इधर महल के हालात इतने जर्जर हो चले हैं कि अब यदि 5-10 इंच बारिश एकसाथ हो जाए तो आशंका है कि महल क्षतिग्रस्त होने से बचे। कालियादेह महल के समीप बने बावन कुण्डों में नहाते, सेल्फी लेते हुए पिछले वर्षों में युवाओं की जान गई है। ऐसे में यह जरूरी हो गया है कि इस पूरे क्षेत्र में पर्यटन पर या तो प्रतिबंध लगे या फिर उसका दायरा तय हो। ताकि लोगों की जान की रक्षा की जा सके। रविवार को हालात यह थे कि मौके पर अठखेलियां कर रहे बच्चे, युवाओं को रोकने के लिए न तो पुलिसकर्मी थे, न ही प्रशासन का  कोई अधिकारी। अभी तो बारिश की शुरुआत है। ऐसे में जरूरी है कि पुलिस और प्रशासन यहां के लिए कोई एक्शन प्लान बनाए। वरना फिर किसी मां का आंचल आंसुओं से भिगेगा और पिता के बुढ़ापे की लाठी बावन कुण्ड में बहकर हाथों से फिसल जाएगी। 

गोवर्मेन्ट एप्रूव्ड प्लाट व फार्महाउस मात्र रु. 4300/- गज, अजमेर रोड (NH-8) जयपुर में 7230012256

More From state

Trending Now
Recommended