संजीवनी टुडे

मृत्यु के बाद जीव का उद्धार करने वाला केवल राम नाम: शुकामृत दास

संजीवनी टुडे 23-02-2020 22:24:53

हरे कृष्ण प्रचार केंद्र खूंटी के तत्वावधान में रविवार को एक दिवसीय भागवत गीता कार्यक्रम का आयोजन अंतरराष्ट्रीय कृष्ण भावना मृत संघ द्वारा किया गया।


खूंटी। हरे कृष्ण प्रचार केंद्र खूंटी के तत्वावधान में रविवार को एक दिवसीय भागवत गीता कार्यक्रम का आयोजन अंतरराष्ट्रीय कृष्ण भावना मृत संघ द्वारा किया गया। कथावाचक शुकामृत दास ने कहा कि शिवरात्रि शिव विवाह का मार्मिक अर्थ भगवत गीता है। क्योंकि भगवान शिवजी माता पार्वती से कहते हैं, जो गीता को नहीं जानता, जो गीता नहीं पढ़ता और जो गीता को नहीं पढ़ाता है। वह इस मनुष्य लोक में सबसे पापी इंसान है। वह अधम एवं नाराधाम है,  उसके कुल, शीलता, गुण, व्यवहार, पैसे को धिक्कार है। 

भौतिक जगत के सूट-बूट पहने लोग सब बेकार हैं, क्योंकि उसे सिर्फ दो अगरबत्ती, थोड़ेे से इलायची दाना से सरोकार है । भगवान शिव का उपदेश उनके लिए नदियों के पार है। जिस प्रकार नदियों में श्रेष्ठ गंगा है, करोड़ों देवी देवताओं में श्रेष्ठ विष्णु हैं, पुराणों में श्रेष्ठ भगवत है, उसी प्रकार करोड़ों वैष्णव में श्रेष्ठ भगवान शिव शंभू हैं। 

यह खबर भी पढ़े: CAA समर्थन में दो बहनों ने अपनी शादी के कार्ड पर छपवाया कुछ ऐसा, कार्ड बना चर्चा का विषय

यह खबर भी पढ़े: CAA विरोधी प्रदर्शन के दौरान अलीगढ़ पुलिस पर पथराव व फायरिंग, कोतवाली में लगाई आग

मात्र 289/- प्रति sq. Feet में जयपुर में प्लॉट बुक करें 9314166166

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

More From state

Trending Now
Recommended