संजीवनी टुडे

रेप व हत्या के मुख्य आरोपित को आखिरी सांस तक जेल, चार को सात-सात साल की कैद

संजीवनी टुडे 22-01-2019 22:27:18


सोनीपत। अतिरिक्त जिला न्यायाधीश डॉ. सुनीता ग्रोवर की न्यायालय ने थाना बरोदा के गांव खानपुर कलां में छात्रा का अपहरण और दुष्कर्म के बाद हत्या करने के आरोपितों को दोषी करार दिया है। न्यायालय ने मुख्य दोषी को आखिरी सांस तक जेल में रखने तथा होटल संचालक की पत्नी समेत चार को सात-सात साल कैद सजा सुनाई। मुख्य दोषी को 50 हजार रुपये जुर्माना व दूसरे चार को 10-10 हजार रुपये जुर्माना किया है। इस में आरोपित होटल संचालक की मौत हो चुकी है।

बरोदा थाना के गांव निवासी एक व्यक्ति ने 13 नवंबर, 2016 को शिकायत देकर बताया था कि उसकी बेटी राजकीय कॉलेज गोहाना में बीएससी की छात्रा थी। वह 12 नवंबर को कॉलेज गई थी। गांव खानपुर कलां के विक्रम ने उसकी बेटी का अपहरण कर लिया गया था। शहर में मुगलपुरा रोड स्थित राधे-राधे रेस्टोरेंट ले गया था। वहां छात्रा से दुष्कर्म करके उसकी हत्या की गई और शव को खुर्द-बुर्द कर दिया गया। 13 नवंबर को छात्रा के पिता की शिकायत पर बरोदा थाना में अपहरण का केस दर्ज हुआ। पुलिस ने विक्रम को पूछताछ के लिए बुलाया लेकिन उसे छोड़ दिया गया। 

परिवार ने छात्रा की स्कूटी व मोबाइल फोन खुद बरामद किए थे। जब बरोदा थाना पुलिस ने उचित कार्रवाई नहीं की तो परिवार 20 नवंबर, 2016 को मुख्यमंत्री मनोहर लाल से मिलने पहुंचे। एसआईटी ने 29 नवंबर, 2016 को रेस्टोरेंट संचालक की पत्नी गोहाना निवासी महक, कारिंदे गामड़ी निवासी विकास व बिजेंद्र को गिरफ्तार करके मामले का खुलासा किया था। 

इसमें मुख्य आरोपी विक्रम के पिता रोहताश, जीजा आशीष, रेस्टोरेंट संचालक राधेश्याम व कार मालिक सुरेश को भी गिरफ्तार किया था। पुलिस ने विक्रम पर 50 हजार रुपये का इनाम भी घोषित किया। दो माह बाद विक्रम को तत्कालीन एसआईटी प्रभारी योगेंद्र की टीम ने काबू किया था, जिसने छात्रा की दुष्कर्म के बाद हत्या करने व जेएनएल नहर में फेंकने की बात कबूल की थी। 

मंगलवार को मामले में सुनवाई करते हुए एएसजे डॉ. सुनीता ग्रोवर की अदालत ने पांच आरोपितों को दोषी करार दिया है। मामले में दोषी विक्रम को हत्या का दोषी करार देते हुए उम्रकैद व 20 हजार रुपये जुर्माना, धारा-376ए में दोषी करार देते हुए आखिरी सांस तक जेल में रहने व 20 हजार रुपये जुर्माना, धारा 201, 120 बी में सात साल कैद व दस हजार रुपये जुर्माना किया है। रेस्टोरेंट मालिक की पत्नी महक, कारिंदे विकास, बिजेंद्र व कार मालिक सुरेश को धारा-201, 120 बी में दोषी करार देते हुए सात-सात साल कैद व दस-दस हजार रुपये का जुर्माना किया है। मामले में आरोपित रेस्टोरेंन्ट संचालक राधेश्याम की पहले ही मौत हो चुकी है।

More From state

Trending Now
Recommended