संजीवनी टुडे

दो दिनों में 50 से अधिक पशुओं की मौत से ग्रामीण में दहशत का माहौल

संजीवनी टुडे 26-06-2019 12:13:18

सूरजपुर जिलें के दूूूरस्थ अंचल कहे जाने वाला चांदनी-बिहारपुर के अंतर्गत आने वाले ग्राम लुल्ह व भुण्डा में पिछले दो दिनों में 50 से अधिक पालतु मवेशियों की मौत से गांव में दहशत का माहौल है।


छत्तीसगढ़।  सूरजपुर जिलें के दूूूरस्थ अंचल कहे जाने वाला चांदनी-बिहारपुर के अंतर्गत आने वाले ग्राम लुल्ह व भुण्डा में पिछले दो दिनों में 50 से अधिक पालतु मवेशियों की मौत से गांव में दहशत का माहौल है। ग्रामीण इस अकारण मौत की वजह जानने तरह-तरह का प्रयास कर रहे हैं लेकिन पशु चिकित्सा विभाग मौन साधे हुए है जिससे ग्रामीणों में भारी आक्रोश है।

ओड़गी ब्लाक के ग्राम खोहिर के आश्रित ग्राम लुल्ह व भुण्डा बेहद दूरस्थ अंचल में शुमार है। बताया गया है कि इन दिनों गांवों में पिछले दो दिनों में लोगों के 50 से अधिक मवेशी मर चुके है। बेवजह हो रही इन मौतों से ग्रामीण दहशत में हैं। पशु चिकित्सा विभाग के चिकित्सक को ग्रामीणों ने कई बार फोन कर सूचना दी और गांव पहुंचने का आग्रह किया। लेकिन वे अब तक गांव में नहीं पहुॅचे हैं। जिससे ग्रामीणों में आक्रोश है।

ग्रामीणों का कहना है कि मवेशियों के पेट में फुलन हो रहा और देखते-देखते उनकी मौत हो जा रही है। अब तक दलसा चेरवा की पांच, बेचू चेरवा की चार, सरपंच तेजबली की पांच बकरी व चार गाय, धनसाय की चार बकरी, शिवराज की नौ बकरी, हिरासाय की दो भैंस, करन की एक बकरी तथा भवन साय की छह बकरियों की मौत हो चुकी है। 

ग्रामीणों का यह भी आरोप है कि बिहारपुर में पदस्थ पशु चिकित्सक आए दिन मुख्यालय से बाहर रहते हैं और वे मध्यप्रदेश से आना-जाना कर अपने कर्तव्यों का निर्वहन कर रहे हैं। ग्रामीणों ने जिला प्रशासन का ध्यान इस ओर आकर्षित कर पशुधन के हो रहे नुकसान पर रोक लगाने समुचित पहल करने की मांग की है।

मात्र 260000/- में टोंक रोड जयपुर में प्लॉट 9314166166

uku

More From state

Trending Now
Recommended