संजीवनी टुडे

भारत की प्राचीन संस्कृति का गौरवमयी हिस्सा है योग

संजीवनी टुडे 21-06-2019 17:50:39

अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के उपलक्ष्य पर आज नाहन के पक्का टेंक पर एक विशाल योग शिविर का आयोजन किया गया जिसमें शहर व आसपास गांव से आए सैंकड़ों लोगों द्वारा योग शिविर में पहूंच कर योग क्रियाओं बारे अभ्यास किया गया


नाहन। अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के उपलक्ष्य पर आज नाहन के पक्का टेंक पर  एक विशाल योग शिविर का आयोजन किया गया जिसमें शहर व आसपास गांव से आए सैंकड़ों लोगों द्वारा योग शिविर में पहूंच कर योग क्रियाओं बारे अभ्यास किया गया  ।  योग शिविर का शुभारंभ उपायुक्त सिरमौर  ललित जैन द्वारा दीप प्रज्ज्वलित कर किया गया ।

इस मौके पर संबोधित करते हुए  उपायुक्त  ने कहा कि योग भारत की प्राचीन संस्कृति का गौरवमयी हिस्सा है जिसकी वजह से भारत सदियों तक विश्व गुरु रहा है । उन्होने कहा कि योग एक ऐसी सुलभ एवं प्राकृतिक पद्धति है जिससे स्वस्थ मन एवं शरीर के साथ अनेक आध्यात्मिक लाभ प्राप्त किये जा सकते हैं। 

उन्होने कहा कि  जिस योग को अनेक ऋषि मुनियों एवं स्वामी रामदेव ने गुफाओं और कंदराओं से निकालकर आम जन तक पहुँचाया था उसी योग को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने विश्व पटल पर स्थापित करके भारत की प्राचीन संस्कृति का मान बढ़ाया है और आज विश्व के 250 से अधिक देशों द्वारा योग को अपनाया गया है ।


उन्होने कहा कि योग हमारे देश की प्राचीन सांस्कृतिक विरासत है जिसे आमजन तक पहंूचाने का केंद्र और प्रदेश सरकार द्वारा भरसक प्रयास किया गया है । उन्होने कहा कि योग मनुष्य की काया को निरोग बनाता है और योग के माध्यम से असाध्य रोगों का उपचार संभव है ।उन्होने कहा कि आचार्य चर्क ने कहा था कि हम योग के माध्यम से सभी वेदनाओं से मुक्ति पा सकते हैं । योग से शारीरिक एवं मानसिक रोगों से मुक्ति मिलती है ।

मात्र 260000/- में टोंक रोड जयपुर में प्लॉट 9314166166

 

 

More From state

Trending Now
Recommended