संजीवनी टुडे

घोटालेबाज उप डाकपाल ने घर में बना रखा था फर्जी बैंक

संजीवनी टुडे 20-02-2020 18:06:30

सरकार को 8 लाख का चूना लगाने वाले उप डाकपाल ने अपने घर में ही फर्जी बैंक बना रखा था। इस मामले का खुलासा सहायक डाक अधीक्षक की जांच रिपोर्ट से हुआ है।


रामगढ़। सरकार को 8 लाख का चूना लगाने वाले उप डाकपाल ने अपने घर में ही फर्जी बैंक बना रखा था। इस मामले का खुलासा सहायक डाक अधीक्षक की जांच रिपोर्ट से हुआ  है। 

सहायक डाक अधीक्षक कुणाल प्रियदर्शी ने जब रामगढ़ कोर्ट परिसर स्थित उप डाकघर शाखा का निरीक्षण किया तो ऐसे कई राज खुल कर सामने आए जो पिछले कई महीनों से दफन थे। उन्होंने बताया कि रामगढ़ कोर्ट परिसर में उपभोक्ताओं द्वारा सुकन्या योजना, रेकरिंग अकाउंट, स्टांप पेपर और नगदी सहित दर्जनों योजनाओं में पैसे जमा किए जाते थे। उस पैसे को कंप्यूटर पर चढ़ाया जाता था, लेकिन काउंटर में जमा हुआ पैसा खजाने तक नहीं पहुंचता था। 

पोस्ट ऑफिस में जमा उपभोक्ताओं के पैसे से उप डाकपाल शशि भूषण पासवान ने अपने घर में ही फर्जी बैंक बना लिया था। जब भी किसी उपभोक्ता को अपने खाते से पैसे निकालने होते थे, तो उसे इंतजार करने को कहा जाता था। इसके बाद उप डाकपाल शशि भूषण पासवान अपने घर से पैसे लेकर उसे भुगतान करते थे। साथ ही विभिन्न योजनाओं के पैसे को भी उसने अपने घर में ही रख लिया था। 

अपनी जांच रिपोर्ट में सहायक डाक अधीक्षक ने स्पष्ट तौर पर कहा है कि शशिभूषण पासवान एक फर्जी बैंक की तरह खुद ही काम कर रहे थे। इस मामले में जब उन्हें पकड़ा गया तो उन्हें पैसा जमा करने को भी कहा गया। इस पूरी कार्रवाई को विभागीय रिकार्ड में भी रखा गया, ताकि कोई अधिकारी और कर्मचारी अपना पल्ला झाड़ नहीं सके। 

विभाग के नोटिस के बाद 1.20 लाख जमा किया
सरकार को 8 लाख का चूना लगाने के बाद उप डाकपाल शशिभूषण पासवान को निलंबित कर दिया गया। इसके बाद शशि भूषण ने पूरे मामले को रफा-दफा करने की भी कोशिश की। उन्होंने अपने विभागीय अधिकारियों से समय मांगा और सरकारी खजाने में ₹120000 जमा भी किया। लेकिन बाद में उन्होंने अधिकारियों को ही बरगलाना शुरू कर दिया। शशि भूषण पासवान ने बताया कि अभी वर्तमान में उनके ऊपर 7 लाख 87 हजार 956 रुपए गबन का आरोप लगा है। लेकिन उन्होंने ₹120000 विभागीय नोटिस मिलने के बाद जमा किया है। अभी उनके ऊपर 667000 रुपए ही बाकी है।

उप डाकपाल की अजीब सी सफाई
इस पूरे मामले में हिन्दुस्थान समाचार संवाददाता से उप डाकपाल शशि भूषण पासवान ने अजीब सी सफाई दी है। उन्होंने कहा कि गलती तो हो गई है, लेकिन अब हुए इस पूरे मामले को रफा-दफा करने में लगे हैं। उन्होंने कहा कि पोस्ट ऑफिस में डेबिट और क्रेडिट ही उन्हें समझ में नहीं आया। कैसे क्या करना था यह भी वह समझ ही नहीं पाए, और इसी वजह से उन्होंने इतनी मोटी रकम का गबन कर लिया।

यह भी पढ़े: मुख्यमंत्री के स्वागत में केसरिया में रंगे युवा, लोगों ने लगाए नारे

यह भी पढ़े: शादी के बाद पत्नी ने बना लिए पति के बड़े भाई से संबंध, फिर हुआ ऐसा...

मात्र 289/- प्रति sq. Feet में जयपुर में प्लॉट बुक करें 9314166166

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

More From state

Trending Now
Recommended