संजीवनी टुडे

पूर्व कैबिनेट मंत्री श्रीप्रकाश जायसवाल के राजनीतिक युग का हो जाएगा अंत !

संजीवनी टुडे 23-05-2019 21:59:47


कानपुर। लोकसभा चुनाव 2019 में एक बार फिर भाजपा की बड़ी जीत हुई और दोबारा केन्द्र में मोदी की सरकार बनने जा रही है। कानपुर में भी दोबारा भाजपा को जीत हासिल हुई है। कानपुर से तीन बार सांसद रहे कांग्रेस उम्मीदवार पूर्व कैबिनेट मंत्री श्रीप्रकाश जायसवाल को हार का सामना करना पड़ा। इस हार से राजनीतिक विश्लेषक मानते हैं कि श्री प्रकाश जायसवाल युग का कानपुर में लगभग अब अंत होने जा रहा है। 

कानपुर में राम मंदिर आंदोलन ने वामपंथ को सदैव के लिए खत्म कर दिया और जगतवीर सिंह द्रोण लगातार तीन बार सांसद रहे। इसके बाद कानपुर में कांग्रेस की मजबूत नींव रखने वाले श्री प्रकाश जायसवाल ने लोकसभा का चुनाव लड़कर भाजपा के विजय रथ को रोका। हालांकि इससे पहले वह कानपुर महापौर भी रह चुके हैं। इसके बाद वह लगातार तीन बार सांसद चुने गये। इस दौरान दो यूपीए वन और यूपीए टू में मंत्री भी रहे। जिससे उनका कद लगातार बढ़ता रहा और कानपुर में कांग्रेस का ग्राफ बढ़ता रहा।

 उनका सरल स्वभाव लोगों में चर्चा का केन्द्र रहता है। लेकिन पिछले लोकसभा चुनाव में मोदी लहर के चलते उन्हे भाजपा के वरिष्ठ नेता डा. मुरली मनोहर जोशी से करारी शिकस्त झेलनी पड़ी। इसके बाद कांग्रेस ने एक बार फिर उन पर भरोसा जताया और दमदारी से चुनाव लड़ा, पर जीत नसीब नहीं हुई। इस बार भी मोदी का मैजिक चला और उनकी सभी उम्मीदों में पानी फिर गया। हालांकि उन्हे इस लोकसभा चुनाव में हार का अंतर जरुर कम रहा। 

प्लीज सब्सक्राइब यूट्यूब चैनल

जिससे अब राजनीतिक विश्लेषक यह मानने लगे हैं कि कानपुर में श्री प्रकाश युग का अंत लगभग तय है। डीएवी कॉलेज के एसो. प्रो. डा. अनूप सिंह का कहना है कि कानपुर में कांग्रेस दो गुटों में विभाजित है। एक गुट श्री प्रकाश का है तो दूसरा पूर्व विधायक अजय कपूर का। ऐसे में अब श्री प्रकाश की हार से अजय कपूर का गुट मजबूत हो गया है। कपूर की बढ़ती महात्वाकांक्षा के चलते चुनाव के समय अचानक कांग्रेस ने उन्हे राष्ट्रीय सचिव की जिम्मेदारी सौंप दी है। जिससे अब यह माना जा रहा है कि कानपुर में श्री प्रकाश जायसवाल के राजनीतिक युग का लगभग खात्मा होने जा रहा है। 

मात्र 240000/- में टोंक रोड जयपुर में प्लॉट 9314166166

More From state

Trending Now