संजीवनी टुडे

नाबालिग को भगाकर दुष्कर्म के आरोपी को दस साल की सजा

संजीवनी टुडे 29-05-2019 21:47:14


जालोर। विशिष्ट न्यायाधीश पोक्सो न्यायालय के न्यायाधीष हरिवल्लभ खत्री ने बुधवार को नाबालिग से दुष्कर्म करने के आरोपी को दस साल के कारावास की सजा सुनाई। वहीं, नाबालिग को भगाने में मुख्य आरोपी का सहयोग करने वाले चार सह अभियुक्तों को चार साल के कारावास से दण्डित किया।

विशिष्ट लोक अभियोजक खुमानसिंह भाटी ने बताया कि जालोर जिले के गांव बागली पुलिस थाना झाब निवासी पीडि़ता के पिता ने रिपोर्ट पेश कर बताया था कि उसका बागली में खेत व बेरा है। वहां वह परिवार सहित निवास करता है। 

उसकी 17 वर्षीय नाबालिग पुत्री कक्षा नवमीं में पढ़ती है तथा भीयाराम के खेत के पास स्कूल बस में बैठकर देवडा गांव स्थित स्कूल जाती है। 26 नवम्बर 2016 को सुबह 9 बजे वह अन्य छात्रों के साथ निम्बाउ से देवड़ा जाने मार्ग पर बस का इंतजार कर रही थी। इतने में एक सिल्वर रंग की गाड़ी आई, जिसमें चार व्यक्ति बैठे थे। गाड़ी उसकी नाबालिग पुत्री के पास आकर रूकी।

 जिसमें तीन व्यक्ति नीचे उतरे तथा उसकी नाबालिग पुत्री को शादी की नियत से जबरदस्ती गाड़ी के अंदर डालकर ले जाने लगे। इतने में उनके साथ खड़े छात्रों ने हल्ला किया तो पास के खेत में खड़ा मांगीलाल दौडक़र आया और मांगीलाल ने गाड़ी को रूकवाने की कोशिश की। गाड़ी में रोहिताश उर्फ रोहित पुत्र श्यामगिरी गोस्वामी निवासी रामनगर घघरिया यूपी सवार था, जो दूध भट्टा देवड़ा में काम करता था।

 वह पहले उसके घर आता जाता था। जिसे मांगीलाल ने उसकी नाबालिग पुत्री को भगाकर ले जाते देखा। उक्त रिपोर्ट पर पुलिस ने पोक्सो एक्ट के तहत मामला दर्ज कर आरोपियों की तलाश शुरू की। पुलिस ने आरोपी रोहिताश उर्फ रोहित को गिरफ्तार किया।

 इसके साथ ही नाबालिग को भगाने में सहयोग करने वाले रोहिताश के साथी रविसिंह उर्फ रवेन्द्रसिंह उर्फ रवि पुत्र अर्जुनसिंह जाति गौतम निवासी टेनी उत्तरप्रदेश, लालाराम पुत्र भभुताराम कलबी निवासी हेमागुडा झाब, प्रवीण कुमार पुत्र हरचंदराम मेघवाल निवासी हेमागुड़ा झाब, हरजीराम पुत्र कानाराम बागरी निवासी भाखरपुरा गुड़ा मालानी को भी गिरफ्तार किया गया। पुलिस ने अनुसंधान के बाद आरोप पत्र न्यायालय में पेश किया। 

प्लीज सब्सक्राइब यूट्यूब बटन

विषिष्ठ न्यायाधीश पोक्सो न्यायालय के न्यायाधीश हरिवल्लभ खत्री ने दोनों पक्षों की बहस सुनने व पत्रावली का अवलोकन करने के बाद रोहिताश उर्फ रोहित को नाबालिग को भगाकर ले जाकर उसके साथ दुष्कर्म करने के मामले का दोषी मानते हुए दस साल के कारावास की सजा सुनाई। वहीं नाबालिग को भगााने में रोहिताश का साथ देने वाले आरोपी रविसिंह उर्फ रवेन्द्रसिंह, लालाराम, प्रवीण कुमार व हरजी राम को भी दोषी मानते हुए चार साल के कारावास की सजा सुनाई। 

मात्र 240000/- में टोंक रोड जयपुर में प्लॉट 9314188188

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

More From state

Trending Now
Recommended