संजीवनी टुडे

चीनी के उत्पादन लागत में कमी लाने का टेकाम ने दिया निर्देश

इनपुट- यूनीवार्ता

संजीवनी टुडे 17-01-2020 17:17:39

मंत्री डॉ. प्रेमसाय सिंह टेकाम ने राज्य की सभी चार सहकारी चीनी मिलों के अधिकारियों को फिजूलखर्ची रोकने एवं उत्पादन लागत में कमी लाने के निर्देश दिए है।


रायपुर। छत्तीसगढ़ के सहकारिता मंत्री डॉ. प्रेमसाय सिंह टेकाम ने राज्य की सभी चार सहकारी चीनी मिलों के अधिकारियों को फिजूलखर्ची रोकने एवं उत्पादन लागत में कमी लाने के निर्देश दिए है।

डा. टेकाम ने आज यहां भोरमदेव कवर्धा, लौह पुरूष सरदार वल्लभ भाई पटेल सहकारी शक्कर कारखाना पंडरिया, मां महामाया सहकारी शक्कर कारखाना अंबिकापुर और दंतेश्वरी मैया सहकारी शक्कर कारखाना बालोद की समीक्षा करते हुए यह निर्देश दिया।उन्होने कहा कि राज्य शासन द्वारा वितरण के लिए गुड़ की आवश्यकता को ध्यान में रखते हुए कवर्धा जिले में अतिशेष गन्ने से गुड़ निर्माण के लिए गुड़ निर्माण सहकारी समिति के गठन के प्रयास किए जाए।

यह खबर भी पढ़ें:​ DSP गिरफ्तारी मामला: जम्मू-श्रीनगर हवाई अड्डों की सुरक्षा सीआईएसएफ को देने का आदेश

उन्होने कारखानों की प्रतिकूल वित्तीय स्थिति को ध्यान में रखते हुए इथेनॉल प्लांट की स्थापना के लिए पी.पी.पी. मोड के विकल्प पर विचार करते हुए प्रस्ताव करने के निर्देश अधिकारियों को दिए। समीक्षा बैठक में अधिकारियों ने बताया कि कवर्धा में 40 के.एल.पी.डी. क्षमता का मोलासिस से इथेनॉल बनाने के लिए संयंत्र की स्थापना की स्वीकृति प्राप्त हो चुकी है। डी.पी.आर. व्ही.एस.आई. पुणे से तैयार कराया गया है। पर्यावरण क्लीयरेन्स की कार्यवाही प्रक्रियाधीन है।

पण्डरिया शक्कर कारखाना में एन.एफ.सी.एस.एफ. नई दिल्ली से 70 के.एल.पी.डी. क्षमता का मोलासिस से इथेनॉल बनाने के लिए डी.पी.आर. तैयार कराया गया है। केरता कारखाना में व्ही.एस.आई. पुणे से 40 के.एल.पी.डी. क्षमता का मोलासिस से इथेनॉल बनाने के लिए डी.पी.आर. तैयार कराया गया है।

ऐसी ही ताजा खबरों व अपडेट के लिए डाउनलोड करे संजीवनी टुडे एप

More From state

Trending Now
Recommended