संजीवनी टुडे

राज्य सरकार ने की भारी उद्योगों के लिए 5,500 एकड़ जमीन अधिसूचित

संजीवनी टुडे 06-03-2019 13:02:27


कोलकाता। कोलकाता समेत राज्यभर में बड़े उद्योग को स्थापित और विकसित करने के लिए राज्य वित्त विभाग ने राज्य भर में मौजूद कुल औद्योगिक भूमि का 50 प्रतिशत हिस्सा भारी उद्योगों के लिए अधिसूचित किया है। राज्य के वित्त और उद्योग विभाग की ओर से बुधवार को बताया गया है कि पश्चिम बंगाल औद्योगिक विकास निगम (‍डब्ल्यूबीआईडीसी) ने भारी उद्योगों के लिए लगभग 50 प्रतिशत भूमि अधिसूचित किया है। यह मात्रा 5,473 एकड़ भूमि की है। यानी 5473 एकड़ जमीन में बड़े उद्योगों को स्थापित और विकसित किया जाएगा।

विभाग के अनुसार, राज्य में वर्तमान में उद्योग के लिए बंगला में उपलब्ध कुल भूमि 10,223 एकड़ है। डब्ल्यूबीआईडीसी ने बंगाल में इन भूखंडों में पानी की आपूर्ति, बिजली, सड़क, प्रशासनिक भवन आदि जैसे आवश्यक बुनियादी ढांचे का निर्माण भी करना शुरू किया है, ताकि उद्योग स्थापित होने के बाद यहां हर तरह की मूलभूत सुविधाएं मौजूद रहें। 

विभाग की ओर से बताया गया है कि पिछले महीने सात और आठ फरवरी को न्यू टाउन में आयोजित हुए बंगाल ग्लोबल बिजनेस समिट में 2,84,288 करोड़ रुपये के निवेश प्रस्ताव मिले हैं जो अब तक का सबसे अधिक है। इसमें चमड़ा, इलेक्ट्रॉनिक, खनन, आईटी, खाद्य प्रसंस्करण समेत कई बड़े उद्योग शामिल हैं। इन्हें बेहतर सुविधाएं और मदद देने के लिए ही राज्य सरकार ने यह कदम उठाया है।

इसके अलावा वर्ष 2015 से 2018 तक प्राप्त प्रस्तावों के 40 प्रतिशत पहले से ही निष्पादन के विभिन्न चरणों में हैं। पिछले चार शिखर सम्मेलनों में कुल 9.5 लाख करोड़ रुपये के प्रस्ताव मिले हैं। वर्तमान में बंगाल में कुल 148 औद्योगिक पार्क या एस्टेट हैं, जिनके जरिए उद्योग के लिए मूलभूत जरूरतों समेत कच्चे माल की आपूर्ति और विपणन प्लेटफार्म भी मुहैया कराया जा रहा है। वित्त विभाग का लक्ष्य है कि राज्य में अधिक से अधिक उद्योग स्थापित हों और उनका समग्र विकास करने में सरकार हर तरह से मददगार बनी रहे।

More From state

Loading...
Trending Now
Recommended