संजीवनी टुडे

राज्य सरकार अपराधों पर नियंत्रण करने में असफल: कटारिया

संजीवनी टुडे 22-07-2019 17:38:43

प्रतिपक्ष के नेता गुलाब चंद कटारिया ने पुलिस एवं कारागार में सुधार के लिए बजट आवंटन करने पर प्राथमिकता देने पर बल देेते हुए कहा है कि राज्य सरकार अपराधों पर नियंत्रण करने में असफल रही है


जयपुर। राजस्थान विधानसभा में प्रतिपक्ष के नेता गुलाब चंद कटारिया ने पुलिस एवं कारागार में सुधार के लिए बजट आवंटन करने पर प्राथमिकता देने पर बल देेते हुए कहा है कि राज्य सरकार अपराधों पर नियंत्रण करने में असफल रही है और पिछले छह महीनों में राज्य में अपराध के मामले बढ़े है। 

श्री कटारिया आज विधानसभा में पुलिस एवं कारागार विभाग की अनुदान मांगों पर चर्चा के दौरान कहा कि इन विभागों में सुधार के लिए बजट आवंटन पर ध्यान दिया जाना चाहिए, उन्होंने कहा कि बजट आवंटन में प्राथमिकता नहीं देंगे तो सुधार कैसे होगा। इस कारण सरकार अपराध को नियंत्रण नहीं कर पा रही है और वह इसमें असफल हो रही है। 

उन्होंने कहा कि उनकी सरकार के समय बजट को बढ़ाकर व्यवस्था सुधारने का काम किया गया था। उन्होंने कहा कि उनकी भाजपा सरकार के पिछले पांच साल में अपराध के मामले घटे हैं जबकि गत छह महीनों में अपराध के मामले बढ़कर एक लाख दस हजार 340 पहुंच गये है। इस तरह अपराधों में 28 प्रतिशत की वृद्धि हुई है। 

उन्होंने कहा कि इस दौरान महिला अपराध के मामलों में 49 प्रतिशत की बढोत्तरी हुई है। इसी तरह अनुसूचित जाति के खिलाफ अपराध के मामलों में 43 प्रतिशत, अनुसूचित जनजाति के खिलाफ अपराध के मामलों में 35 प्रतिशत की वृद्धि हुई है। 

उन्होंने कहा कि अपराध बढ़ने के कारण राज्य देश में हत्या के मामले में छठे स्थान पर आ गया है तथा दुष्कर्म के मामलों में चौथे एवं दुष्कर्म के प्रयास के मामलों में तीसरे स्थान जबकि डकैती में नौवें एवं दहेज मृत्यु में दसवें स्थान पर हैं। उन्होंने कहा कि राज्य में बढ़ रही दुष्कर्म की घटनाओं के प्रति गंभीरता से विचार करने की जरुरत है। 

उन्होंने कहा कि अपराध पर कोई अंकुश नहीं होने के कारण डूंगरपुर में पुलिस कांस्टेबल की पत्नी को रिजर्व पुलिस लाईन से उठाकर ले गये और उसके साथ दुष्कर्म किया गया। बच्चियों के साथ दुष्कर्म हो रहे है। उन्होंने कहा कि अपराध में नियंत्रण पाया जाना चाहिए और इसके लिए सिस्टम बनाकर इसमें सुधार किया जाना चाहिए। 

उन्होंने कहा कि स्थानांतरण के समय कुछ अधिकारी अन्य लोगों को भी अपने साथ ले जाते है और माहौल को गंदा करने का काम करते है, इस पर ध्यान दिये जाने की जरुरत है। पुलिस को ताकतवर बनाने का काम किया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि अच्छे काम करने वाले को प्रोत्साहित करने के लिए सार्वजनिक स्थान पर सम्मानित भी किया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि इसके अलावा दुर्घटनाओं के मामलों में भी वृद्धि हुई है। 

श्री कटारिया ने कहा कि कारागारों में वेतन विसंगति के चलते कारागार में नौकरी करने वाले परेशान हैं। उन्होंने कहा कि वेतन विसंगति को दूर करने को लेकर हर समिति ने सिफारिश की लेकिन वित्त विभाग कोई न कोई कमी निकाल देता है। उन्होंने कहा कि नौकरी को अच्छी बनाने के लिए सिस्टम बनाना चाहिए। 

उन्होंने कहा कि बदमाश जेल में रहकर भी अन्य कैदियों को परेशान करते है। इस पर नियंत्रण पाया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि जेलों में जैमर लगाये गये है लेकिन इसमें सौ प्रतिशत सफलता नहीं मिली है और जेल में मोबाइल आदि बेरोकटोक जा रही है। उन्होंने कहा कि जेलों में कैदियों की संख्या क्षमता से ज्यादा होने के कारण भी उन्हें परेशानियों का सामना करना पड़ता है।

गोवर्मेन्ट एप्रूव्ड प्लाट व फार्महाउस मात्र रु. 2600/- वर्गगज, टोंक रोड (NH-12) जयपुर में 9314166166

sssdsdd

More From state

Trending Now