संजीवनी टुडे

राजीव के खिलाफ घेराबंदी: सारदा मामले के पहले जांच अधिकारी प्रभाकर नाथ से सीबीआई ने की पूछताछ

संजीवनी टुडे 28-05-2019 12:40:57


कोलकाता। अरबों रुपये के सारदा चिटफंड घोटाले की जांच कर रही केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो (सीबीआई) ने मामले में साक्ष्यों को मिटाने के आरोपित कोलकाता पुलिस के पूर्व आयुक्त राजीव कुमार के खिलाफ अपनी घेराबंदी तेज कर दी है। इसी सिलसिले में मंगलवार सुबह कोलकाता पुलिस के अधिकारी प्रभाकर नाथ से सीबीआई की टीम ने मैराथन पूछताछ शुरू की है। प्रभाकर राज्य सरकार के उस विशेष जांच दल (एसआईटी) के जांच अधिकारी थे जिसने सबसे पहले सारदा चिटफंड घोटाला मामले की जांच की थी।

 2013 में पश्चिम बंगाल सरकार ने सबसे पहले विशेष जांच दल एसआईटी का गठन किया था जिसका नेतृत्व तत्कालीन बिधाननगर पुलिस आयुक्त राजीव कुमार ने किया था और प्रभाकर नाथ चिटफंड मामले के जांच अधिकारी बनाए गए थे। मंगलवार सुबह 11:00 बजे से सीबीआई की टीम ने उनसे पूछताछ शुरू की है। उनका बयान रिकॉर्ड किया जा रहा है।

 जांच एजेंसी के विश्वस्त सूत्रों के हवाले से बताया गया है कि इस मामले में आरोपित राजीव कुमार सीबीआई के नोटिस को दरकिनार कर दे रहे हैं। वह पूछताछ में भी सहयोग नहीं कर रहे हैं और ना ही जांच में। इसलिए उनके खिलाफ गिरफ्तारी का वारंट जारी करने की तैयारी की जा रही है। इसके लिए उनके खिलाफ साक्ष्यों को और अधिक मजबूत किया जा रहा है। इसी कड़ी में प्रभाकर नाथ से पूछताछ की गई है। उनके बयानों का विश्लेषण कर उसमें से सामने आए तथ्यों को राजीव कुमार और मामले में अन्य आरोपितों के खिलाफ घेराबंदी के लिए इस्तेमाल किया जा सकता है।

प्लीज सब्सक्राइब यूट्यूब बटन

 

 इधर मंगलवार सुबह कोलकाता के 18/25 बैलीगंज प्लेस में स्थित अधिवक्ता वाई जे दस्तूर के घर सीबीआई की एक विशेष टीम गई थी। इसमें एसपी पार्थ मुखर्जी, डीएसपी मनीष उपाध्याय समेत चिटफंड मामले की जांच में शामिल अधिकारी मौजूद थे। इन लोगों ने सीबीआई के अधिवक्ता दस्तूर से राजीव कुमार के खिलाफ गिरफ्तारी का वारंट जारी कराने के लिए जरूरी कानूनी सलाह ली है। केंद्रीय मुख्यालय के निर्देशानुसार सीबीआई की टीम सुप्रीम कोर्ट अथवा बारासात की विशेष सीबीआई अदालत में राजीव कुमार के खिलाफ आज ही याचिका लगा सकती है।

मात्र 240000/- में टोंक रोड जयपुर में प्लॉट 9314166166

More From state

Trending Now
Recommended