संजीवनी टुडे

श्रीमद्भागवत के श्रवण दिलाता है कष्टों से मुक्ति : श्याम सुंदर महाराज

संजीवनी टुडे 14-07-2019 14:50:10

श्रीमद्भागवत कथा के छठे दिन रविवार को श्रीकृष्ण रुकमनी विवाह का आयोजन हुआ।


ऋषिकेश। श्याम शरणम सेवा संस्थान पीठ की ओर से आयोजित श्रीमद्भागवत कथा के छठे दिन रविवार को श्रीकृष्ण रुकमनी विवाह का आयोजन हुआ।

कथावाचक आचार्य श्याम सुंदर महाराज ने कहा कि महारास में पांच अध्याय हैं। उनमें गाए जाने वाले पंच गीत भागवत के पंच प्राण हैं। जो भी ठाकुरजी के इन पांच गीतों को भाव से गाता है वह भव पार हो जाता है। उन्हें वृंदावन की भक्ति सहज प्राप्त हो जाती है।

कथा के दौरान व्यासपीठाधीश्वर आचार्य ने कहा कि महारास में भगवान श्रीकृष्ण ने बांसुरी बजाकर गोपियों का आव्हान किया और महारास लीला से ही जीवात्मा परमात्मा का मिलन हुआ। जीव और ब्रह्म के मिलने को ही महारास कहते हैं। अपने अमृत प्रवचनों मैं उन्होंने कहा कि आस्था और विश्वास के साथ भगवत प्राप्ति आवश्यक है। 

कृष्ण-रुक्मणि विवाह प्रसंग पर उन्होंने कहा कि भगवान कृष्ण ने 16 हजार कन्याओं से विवाह कर उनके साथ सुखमय जीवन बिताया। कथा के दौरान भक्तिमय संगीत ने श्रोताओं को आनंदित किया।

गोवर्मेन्ट एप्रूव्ड प्लाट व फार्महाउस मात्र रु. 2600/- वर्गगज, टोंक रोड (NH-12) जयपुर में 9314166166

More From state

Trending Now
Recommended