संजीवनी टुडे

शिव मंदिरो में उमड़ा आस्था का सैलाब

संजीवनी टुडे 04-03-2019 12:25:48


जयपुर। समूचे प्रदेश में महाशिवरात्रि धार्मिक हर्षोल्लास के साथ मनाई जा रही है। राज्य के प्रमुख शिवालयों में सोमवार अलसुबह से ही आस्था और श्रद्धा का सैलाब देखने को मिल रहा है। मंदिरों में भक्तों की लंबी कतारें लगी हुई है। फाल्गुन मास के कृष्ण पक्ष की चतुर्दशी को महाशिवरात्रि इस बार कई दुर्लभ संयोगों के साथ आई है। सिद्धि योग और सोमवार का दिन होने के साथ शिव योग इस वर्ष की महाशिवरात्रि पर दुर्लभ संयोग बना है।

जयपुर में प्लॉट मात्र 2.30 लाख में Call On: 09314188188

मंदिरों की बहुतायत की वजह से ही जयपुर को छोटी काशी भी कहते हैं। जयपुर में कई प्राचीन मंदिर मौजूद हैं, इनमें कई मंदिर दक्षिण शैली में बने हुए हैं। शहर की चारदीवारी में तीनों चौपड़ों पर तीन बड़े मंदिर एक ही शैली और समकोण पर बने हुए हैं। इन मंदिरों में महाशिवरात्रि के मौके पर खास सजावट की गई है। 

शिवरात्रि पर चौड़ा रास्ता स्थित ताड़केश्वरजी, क्वींस रोड वैशालीनगर स्थित झारखंड महादेव, बनीपार्क के जंगलेश्वर महादेव, छोटी चौपड़ स्थित रोजगारेश्वर महादेव, झोटवाड़ा रोड स्थित चमत्कारेश्वर महादेव, रामगंज के ओंडा महादेव, विद्याधर नगर के भूतेश्वर महादेव, धूलेश्वर महादेव व जाट का कुआं के महादेव मंदिर में भक्तों का तांता लगा हुआ है। 

महाशिवरात्रि को लेकर पुलिस और प्रशासन ने सुरक्षा और यातायात के खास प्रबंध किए हैं। मंदिरों पर अतिरिक्त जाप्ता तैनात किया गया है। वहीं हर गतिविधि पर नजर रखने के लिए सीसीटीव कैमरे लगाए हैं। 

शहर के मोती डूंगरी किले में स्थित एकलिंगेश्वर महादेव मंदिर में सुबह तीन बजे से ही दर्शनार्थियों की लंबी लंबी लाइने लगी हुई है। एकलिंगेश्वर महादेव मंदिर को अत्यंत चमत्कारी माना जाता है। इस मंदिर की स्थापना बहुत पुरानी है। यह जयपुर शहर की स्थापना से पहले ही बना हुआ है। 

MUST WATCH & SUBSCRIBE

वर्ष में एक बार महाशिवरात्रि पर ही इसके पट खुलते हैं। लिहाजा भक्तों काे सालभर इसके पट खुलने का इंतजार रहता है। दर्शनार्थी यहां दर्शन करने के लिए रात से ही लाइन लगाना शुरू कर देते हैं। घंटो कतार में खड़े रहने के बाद भोले बाबा के दर्शन होते हैं। 

More From state

Trending Now
Recommended