संजीवनी टुडे

शर्मसार : महिला ने दिया कांग्रेस को वोट तो उसके मुंह में उड़ेला तेजाब

संजीवनी टुडे 25-04-2019 22:33:38


कोलकाता। राजनीतिक हिंसा के लिए कुख्यात रहे पश्चिम बंगाल से इस बार पूरी मानवता को शर्मसार करने वाली घटना प्रकाश में आई है। आरोप है कि एक महिला के मुंह में सिर्फ इसीलिए तेजाब उड़ेल दिया गया क्योंकि उसने कथित तौर पर कांग्रेस को वोट दिया था। अमानवीय अत्याचार की शिकार हुई माखन बीबी नामक पीड़िता को इलाज के लिए अस्पताल मे भर्ती कराया गया है। वह जिन्दगी और मौत के बीच झूल रही है। गुरुवार को इस बारे में खुलासा करते हुए मुर्शिदाबाद के बरहमपुर से कांग्रेस के निवर्तमान सांसद अधीर रंजन चौधरी ने कहा कि यह घटना तृणमूल कांग्रेस के गुंडातंत्र का प्रत्यक्ष प्रमाण है। ममता बनर्जी लोकतंत्र बंगाल में खत्म कर चुके हैं। उक्त घटना बेहद दुखद एवं शर्मनाक है। घटना मुर्शिदाबाद संसदीय क्षेत्र के रानीनगर इलाके की है। यहां 23 अप्रैल को तीसरे चरण में मतदान हुए थे। 

आरोप है कि माखन बीवी और कांग्रेस के पक्ष में मतदान के संदेह में उसके मुंह में तेजाब डाला गया है। आरोपी कोई और नहीं बल्कि महिला के पति और ससुराल पक्ष के सदस्य हैं।स्थानीय सूत्रों के अनुसार महिला के मायके वाले कांग्रेस पार्टी के तथा ससुराल वाले तृणमूल पार्टी के समर्थक हैं। इसको लेकर दोनों परिवारों में तनाव चल रहा था। माखन भी कांग्रेस का समर्थन कर रही थीं। इसे लेकर मतदान के कुछ दिन पहले उसका ससुराल वालों से झगड़ा हुआ था।

मात्र 240000/- में टोंक रोड जयपुर में प्लॉट 9314166166

मतदान के दिन अर्थात 23 अप्रैल को माखन जब वोट डालने के लिए घर से निकली तो ससुराल पक्ष के लोगों ने उसे तृणमूल उम्मीदवार के पक्ष में वोट डालने को कहा। ऐसा नहीं करने पर मारने-पीटने की धमकी दी, लेकिन महिला उनकी नहीं सुनी। कांग्रेस उम्मीदवार को वोट दिया। यह जानने के बाद उसके ससुराल वाले भडक़ उठे। मतदान केन्द्र से वह जैसे ही घर लौटी पति, देवर, ससुर सभी उस पर टूट पड़े। घर में बंद कर उसे बेरहमी से मारा-पीटा गया। फिर मुंह में एसिड डाल दिया गया।

MUST WATCH & SUBSCRIBE

अत्याचार की शिकार हुई महिला के बेटे ने इस घटना की पुष्टि की है। गुरुवार को मीडिया के समक्ष उसने दावा किया है कि उसने पिता, चाचा और दादा को मां पर निर्मम अत्याचार करते देखा है। हालांकि आरोपितों ने आरोप को झूठा बताया है। उनका कहना है कि कांग्रेस को वोट देने को लेकर झगड़ा हुआ था। गुस्साकर उसने खुद से एसिड पी लिया। महिला के बेटे ने बताया है कि उसने पुलिस में इस घटना की तहरीर दी है लेकिन पुलिस मामले में चुप्पी साधे बैठी है। जिला पुलिस के आला अधिकारियों का कहना है कि उन्हें इस तरह की घटना के बारे में जानकारी नहीं है। 

More From state

Trending Now
Recommended