संजीवनी टुडे

दलित की बिंदोरी रोकने के मामले में जेल भेजे गए सात आरोपित

संजीवनी टुडे 20-05-2019 21:43:32


चित्तौडगढ़। जिले के रावतभाटा उपखंड के भैंसरोडगढ़ थाना क्षेत्र के लुहारिया गांव में भील समाज के युवक की बिंदौली रोकने के मामले में सोमवार को पुलिस ने गिरफ्तार सात आरोपितों को चित्तौडग़ढ़ कोर्ट में पेश किया, जहां से उन्हें जेल भेज दिया गया। मामले में होमगार्ड के दो जवानों की भूमिका भी सामने आई है। पुलिस उनकी तलाश कर रही है। 

रावतभाटा पुलिस के अनुसार लुहारिया निवासी रतन भील ने थाना में 18 मई को शिकायत दर्ज कराई कि 15 मई को उसके पुत्र की बिंदौली रात 09:00 बजे गांव में निकाली जा रही थी। इस बीच गांव के कुछ लोगों ने बिंदौली रोक दी और पुत्र को घोड़ी से नीचे उतार दिया। इस सम्बंध में पुलिस ने एससी-एसटी एक्ट और बिंदौली रोकने आदि धाराओं के तहत प्रकरण दर्ज कर लिया। मामले की जांच के लिए रविवार को अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक तृप्ति विजयवर्गीय, उप जिला कलक्टर रामसुख गुर्जर, थानाधिकारी राजाराम आदि लुहारिया पहुंचे और पीड़ित परिवार के बयान दर्ज किए।

प्लीज सब्सक्राइब यूट्यूब चैनल 

इस मामले में पुलिस ने कार्रवाई करते हुए रविवार को राजेंद्र उर्फ इंद्रसिंह, सुरेश पुत्र देवीलाल जाट, बबलू पुत्र लालचंद जाट, उदयलाल पुत्र मांगीलाल जाट, राजू पुत्र देवीलाल जाट, राजू पुत्र प्रभुलाल जाट, ऊंकार पुत्र चतुर्भुज जाट को गिरफ्तार कर लिया। सभी आरोपितों को सोमवार को चित्तौडगढ़ कोर्ट में पेश किया गया, जहां से जेल भेजने के आदेश दिए गए हैं। अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक रावतभाटा तृप्ति विजयवर्गी ने बताया कि इस मामले में होमगार्ड के दो जवानों की भूमिका भी सामने आई है। एक होमगार्ड जवान मोहन चौधरी को पहचान कर ली गई है, जबकि दूसरे की पहचान के प्रयास किए जा रहे हैं। फिलहाल, होमगार्ड के जवान पुलिस की गिरफ्त से दूर हैं।

मात्र 240000/- में टोंक रोड जयपुर में प्लॉट 9314166166

More From state

Trending Now
Recommended