संजीवनी टुडे

तीस लाख की धोखाधड़ी के दोषी को चार साल का सश्रम कारावास

संजीवनी टुडे 26-06-2019 18:33:38

तीस लाख की धोखाधड़ी के दोषी को चार साल का सश्रम कारावास


कोटा। अतिरिक्त मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट (क्रम 3) ने 30 लाख रुपये की धोखाधड़ी के मामले में दोषी को चार साल का सश्रम कारावास और 30 हजार रुपये के जुर्माने से दंडित किया। फरियादी के अधिवक्ता भारत सिंह अडसेला ने बुधवार को बताया कि दीपक मीणा ने पुलिस अधीक्षक कोटा शहर के समक्ष पांच अक्टूबर 2016 को परिवाद पेश किया था। इसके तहत 28 मार्च 2017 को उद्योग नगर पुलिस ने आरोपित राहुल मीणा पुत्र लक्ष्मी नारायण मीणा निवासी जवाहर नगर के खिलाफ आईपीसी की धारा 420, 406 के तहत मामला दर्ज किया था। 

पुलिस ने आरोपित को गिरफ्तार किया। पुलिस ने मामले की जांच के बाद आरोपित के खिलाफ न्यायालय में चालान पेश किया। ट्रायल के दौरान अतिरिक्त मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेक के समक्ष नौ गवाहों के बयान करवाए गए। कोर्ट ने आरोपित को धोखाधड़ी का दोषी करार देते हुए चार साल का सश्रम कारावास और 30 हजार रुपये के जुर्माने की सजा सुनाई है।

उल्लेखनीय है कि राहुल मीणा ने बद्रीनारायण शर्मा से धाकड़ खेड़ी में भूमि क्रय करने का सौदा किया था और आवशकता के लिए 22 फरवरी 2015 को दीपक मीणा से 30 लाख रुपये प्राप्त किए। उसने उक्त राशि 15 माह में वापस करने का आश्वासन दिया था और राशि प्राप्त करने के बाद 8 जुलाई 2015 को स्टैंपपेपर पर इकरारनामा भी लिख कर दिया। उधार दी गई राशि को जब लौटने का आग्रह किया गया तो मीणा इससे टाल-मटोल करने लगा। 

मात्र 260000/- में टोंक रोड जयपुर में प्लॉट 9314188188 

More From state

Trending Now
Recommended