संजीवनी टुडे

पानीपत मामले में सेंसर बोर्ड को हस्तक्षेप करना चाहिए: गहलोत

इनपुट- यूनीवार्ता

संजीवनी टुडे 09-12-2019 17:37:08

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा है कि पानीपत फिल्म मामले में सेंसर बोर्ड को हस्तक्षेप कर संज्ञान लेना चाहिए।


जयपुर। राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा है कि पानीपत फिल्म मामले में सेंसर बोर्ड को हस्तक्षेप कर संज्ञान लेना चाहिए।

गहलोत ने आज सोशल मीडिया के जरिए कहा कि फिल्म में महाराजा सूरजमल के चित्रण को लेकर जो प्रतिक्रियाएं आ रही हैं, ऐसी स्थिति पैदा नहीं होनी चाहिए थी। सेंसर बोर्ड इसमें हस्तक्षेप करे और संज्ञान ले।

यह खबर भी पढ़ें:​ मिस यूनिवर्स 2019: बिकिनी राउंड में रैंप वॉक करते हुए एक के बाद एक गिरती रही प्रतिभागी, Video वायरल

उन्होंने कहा कि डिस्ट्रीब्यूटर्स को चाहिए कि फिल्म के प्रदर्शन को लेकर जाट समाज के लोगों से अविलम्ब संवाद करें। फिल्म बनाने से पहले किसी को भी किसी के व्यक्तित्व को सही परिप्रेक्ष्य में दिखाना सुनिश्चित करना चाहिए ताकि विवाद की नौबत नहीं आए।

मुख्यमंत्री ने कहा “मेरा मानना है कि कला का सम्मान होना चाहिए, कलाकार का सम्मान हो परंतु उनको भी ध्यान रखना चाहिए कि किसी भी जाति, धर्म या वर्ग के महापुरुषों का और देवताओं का अपमान नहीं होना चाहिए।

ऐसी ही ताजा खबरों व अपडेट के लिए डाउनलोड करे संजीवनी टुडे एप

More From state

Trending Now
Recommended