संजीवनी टुडे

एसईबीसी विद्यार्थियों को राहत, जाति सत्यापन प्रमाणपत्र प्रस्तुत करने की समय सीमा बढ़ी

संजीवनी टुडे 26-06-2019 18:48:40

एसईबीसी विद्यार्थियों को राहत, जाति सत्यापन प्रमाणपत्र प्रस्तुत करने की समय सीमा बढ़ी


मुंबई। महाराष्ट्र सरकार ने आर्थिक पिछड़ा वर्ग (एसईबीसी) के विद्यार्थियों को एडमिशन में बड़ी राहत देते हुए जाति सत्यापन प्रमाण पत्र प्रस्तुत करने की समय सीमा बढ़ा दी है। जिन एसईबीसी वर्ग के विद्यार्थियों ने जाति सत्यापन प्रमाण पत्र के लिए आवेदन किया है, उन्हें व्यावसायिक पाठ्यक्रमों के प्रवेश के लिए जाति सत्यापन प्रमाण पत्र प्रस्तुत करने की सख्ती नहीं की जाएगी। विद्यार्थियों को अपना जाति सत्यापन प्रमाण पत्र जमा करने के लिए समय दिया जाएगा। उच्च व तकनीकी शिक्षा मंत्री विनोद तावड़े ने यह घोषणा बुधवार को विधानसभा में की। 

शिक्षा मंत्री विनोद तावड़े ने कहा कि एसईबीसी वर्ग के विद्यार्थियों का यह गंभीर मसला है। इस मामले को लेकर मुख्यमंत्री और प्रवेश नियंत्रण समिति के अध्यक्ष के साथ बुधवार को बैठक हुई है। इसके अलावा एसईबीसी के विद्यार्थियों के जाति सत्यापन के लिए पर्याप्त व्यवस्था नहीं है। इसलिए एसईबीसी विद्यार्थियों को व्यावसायिक पाठ्यक्रमों में प्रवेश के लिए जाति सत्यापन प्रमाण पत्र प्रस्तुत करने के लिए बाध्य नहीं किया जाएगा।

एनसीपी विधायक जयंत पाटिल ने औचित्य के मुद्दे के तहत यह मसला उठाया था। पाटिल ने कहा कि मराठा समाज के विद्यार्थियों को इंजीनियरिंग प्रवेश प्रक्रिया के लिए जाति सत्यापन प्रमाण पत्र प्राप्त करने में विलंब हो रहा है। लिहाजा मराठा समुदाय के विद्यार्थी आरक्षण के लाभ से वंचित हो रहे हैं। 

पाटिल ने मांग की सत्यापन प्रमाण पत्र प्राप्त होने तक सत्यापन टोकन नंबर स्वीकार किया जाना चाहिए। एनसीपी विधायक दल नेता अजीत पवार ने कहा कि यह मुद्दा को अन्य पेशेवर पाठ्यक्रमों के लिए स्वीकार किया जाए।

मात्र 260000/- में टोंक रोड जयपुर में प्लॉट 9314188188 

More From state

Trending Now
Recommended