संजीवनी टुडे

छात्रवृति घोटाला: निजी शिक्षण संस्थानों के प्रबंधकों को पूछताछ के लिए तलब करेगी सीबीआई

संजीवनी टुडे 27-05-2019 19:38:21


शिमला। केंद्रीय जांच एजैंसी (सीबीआई) 250 करोड़ के छात्रवृति घोटाले में जांच दायरे मे आए निजि शिक्षण संस्थानों के प्रबंधको को जल्द नोटिस जारी कर पूछताछ के लिए तलब करेंगी। सूत्रों के मुताबिक सीबीआई पहले उन्हीं निजी शिक्षण संस्थानों के प्रबंधको से पुछताछ करने की तैयारी में है जिन शिक्षण संस्थानों ने फर्जी दाखिलाा दिखाकर छात्रों के बैंक खाते खोल डाले और छात्रवृति के नाम पर सरकारी धनराशि का गबन कर डाला। यही नही सीबीआई के राडार में एक निजि शिक्षण संस्थान में एस.सी.ध् एस.टी. छात्रों  के लिए 800 के करीब सीटें थी जबकि संस्थानें पर 3 हजार के आसपास एडमिशन कर डाली और उसी आधार पर सभी छात्रों को छात्रवृति राशि कर दी गई। 

सीबीआई का दावा है कि इस मामले में आने वाले दिनों में कई बड़े खुुलासे हो सकते है। इस मामले में तात्कालीन कुछ सरकारी अधिकारियों व कर्मचारियों पर भी शिंकजा कस सकता है। सूत्रों के अनुसार कुछ निजी संस्थानों ने विद्यार्थियों के बैंक खाते संस्थान के आसपास ही खुलवा लिए। इसमें कुछ खाते चंडीगढ़ और हरियाणा के बैंक में है, जो कि संदेह के दायरे में है। 

आरोप यह भी है कि जिन छात्रों ने निजी शिक्षण छोड़ कर दूसरे संस्थानों में एडमिशन ली, उनके दस्तावेजों के आधार पर ही पुराने संस्थानों को छात्रवृति की राशि बांट दी गई। इस पर न तो कोई चैक रखा गया और न ही कोई पड़ताल की गई। इसके साथ ही छात्रवृति आंबटन के लिए  एक ही मोबाइल को कई बार प्रयोग किया गया।

सीबीआई ने कुछ निजि शिक्षण संस्थानों से कंपयूटर और हार्ड डिस्क को भी कब्जे में लिया है। जिसे अब फारैंसिक जांच के लिए भेजने की तैयारी है, ताकि मामले की परते उधेड़ी जा सके। जांच दायरे में आए निजि शिक्षण संस्थानों में किस वर्ष कितनी एडमिशन हुई और कितनों को छात्रवृृति बांटी गई, इसका भी रिकार्ड खंगाल जा रहा है।

प्लीज सब्सक्राइब यूट्यूब बटन

गौरतलब है कि प्रदेश की पूर्व सरकार के समय में हुए करोड़ो रुपए के छात्रवृति घोटाले में 22 निजि शिक्षण संस्थान जांच के दायरे में है। सीबीआई. से प्राप्त सूचना के अनुसार संबंधित निजि शिक्षण संस्थान ऊना, करनाल, मोहली, नवाशंहर, अंबाला, शिमला, सिरमौर, सोलन, बिलासपुर, चंबा, गुरदारपुर, कांगड़ा सहित अन्य क्षेत्रों में स्थापित है। निजी शिक्षण संस्थानों पर प्रदेश के हजारों छात्रों के वजीफे डकारने का आरोप है ।

More From state

Trending Now