संजीवनी टुडे

एसबीआई उपमहाप्रबंधक को यूरोप भेजने के नाम पर साढ़े चार लाख की ठगी

संजीवनी टुडे 03-07-2019 17:03:59

शहर के जालोरी गेट स्थित एसबीआई शाखा के उपमहाप्रबंधक को एक शातिर युवक ने अपने झांसे में उलझाया। झांसे में आए उपमहाप्रबंधक यूरोप जाने के नाम पर उसको साढ़े चार लाख देकर गवां बैठे।


जोधपुर। शहर के जालोरी गेट स्थित एसबीआई शाखा के उपमहाप्रबंधक को एक शातिर युवक ने अपने झांसे में उलझाया। झांसे में आए उपमहाप्रबंधक यूरोप जाने के नाम पर उसको साढ़े चार लाख देकर गवां बैठे। युवक ने खुद को एक कंपनी को एजेंट बताने के साथ वाट्सअप ग्रुप भी बनाया। उपमहाप्रबंधक ने अपनी पत्नी व पुत्र के साथ छुट्टियों में विदेश जाने का कार्यक्रम बनाया था, मगर ऐनवक्त पर शातिर ठग ने आंख दिखा दी। लुटे पिटे उपमहाप्रबंधक ने इस बारे में अब शास्त्रीनगर पुलिस शरण ली है। 

शास्त्रीनगर पुलिस ने बुधवार को बताया कि इस संंबंध में न्यू पावर हाऊस रोड प्लॉट नंबर 111 निवासी दीपक खींची पुत्र छोगसिंह खींची की तरफ से प्राथमिकी दी गई। इसमें बताया कि वह जालोरी गेट स्थित एसबीआई शाखा में द्वितीय उपमहाप्रबंधक पद पर कार्यरत है। गत 5 मई को एक युवक सुरेश कु मावत उनके पास आया और खुद को ग्रेट इंडिया वैंकट एजेंसी का एजेंट होना बताया। परिचय बढऩे के बाद युवक ने बताया कि उनकी कंपनी लोगों का यूरोप टूर करवाती है। 

तब झांसे में उपमहाप्रबंधक दीपक खींची से डिपोजिट के नाम पर पहले 60 हजार रुपये लिए गए। यह रुपये उन्होंने 15 मई को नेट बैंकिंग के मार्फत उसके खाते में डलवाए। इसके बाद 10 जून को उस युवक ने डेढ़ लाख और जमा करवाने को कहा। तब उपमहाप्रबंधक ने एक लाख साठ हजार रुपये उसके खाते में नेट बैंकिंग के जरिए और डाल दिए। इससे पहले 3 जून को वीजा तैयार होने की जानकारी देने के साथ उन्हें जयपुर बुलाया गया। 

उपमहाप्रबंधक खींची ने अपनी पत्नी भानुमति, पुत्र रिषि के संबंधित दस्तावेज सौँप दिए। यहां पर जयपुर में किसी पंकज नाम के शख्स ने उनकी मुलाकात करवाई। तब उक्त ने भी खुद को ग्रेट इंडिया वैकेंट का एजेंट होना बताया। इस युवक ने बताया कि उनकी कंपनी वाट्सअप ग्रुप बनाकर टूर पर जाने वालों को समय पर मैसेज करती रहती है। इसके बाद इन शातिर ठगों ने दो लाख रूपये और अपने खाते डलवा दिए।

17 जून को वाट्सअप ग्रुप से अपडेट मिलने के बाद पता लगा कि कंपनी की तरफ से जोधपुर से दिल्ली जाने का टिकट हुआ है। तब उपमहाप्रबंधक खींची परिवार सहित 22 जून को जोधपुर से दिल्ली रवाना हो गए। वहां पहुंच गए। तब उक्त युवकों में से एक ने बताया कि उनका टिकट कैंसिल हो गया है। बाद में उन बदमाशों ने फोन बंद कर दिए। पीडि़त उपमहाप्रबंधक खींची मंगलवार रात को शास्त्रीनगर थाने पहुंचे और मामला दर्ज करवाया। अनुसंधान जारी है। 

मात्र 260000/- में टोंक रोड जयपुर में प्लॉट 9314166166

hgyy

More From state

Trending Now
Recommended