संजीवनी टुडे

प्रशासन से चर्चा के बाद नर्मदा बचाओ आंदोलन का सत्याग्रह समाप्त

इनपुट- यूनीवार्ता

संजीवनी टुडे 09-08-2019 16:35:01

प्रशासन से चर्चा के बाद नर्मदा बचाओ आंदोलन द्वारा शुरू किया किया गया सत्याग्रह दो दिन पहले ही समाप्त हो गया।


बड़वानी। मध्यप्रदेश के बड़वानी तथा नजदीकी खरगोन जिलों में भारी बारिश के चलते जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया है। वहीं प्रशासन से चर्चा के बाद नर्मदा बचाओ आंदोलन द्वारा शुरू किया किया गया सत्याग्रह दो दिन पहले ही समाप्त हो गया।

यह खबर भी पढ़े: यौन उत्पीड़न मामलों में जल्द न्याय दिलाने की मांग

बड़वानी जिले में बीते 24 घंटों के दौरान 118.8 मिलीमीटर औसत वर्षा हुई, जबकि पड़ोसी जिले खरगोन में भी मानसून मेहरबान रहा और 135.3 मिमी औसत बारिश रिकॉर्ड की गई। लगातार दो दिनों से हो रही बारिश के चलते जनजीवन पर असर पड़ा है।

बड़वानी जिले के राजपुर के समीप रण गांव में पुलिया पर बाढ़ का पानी आ जाने के चलते खंडवा वडोदरा राजमार्ग कई बार बाधित हुआ। बड़वानी जिले के वरला क्षेत्र से महाराष्ट्र से संपर्क भी बाधित है। धनोरा- चाचरिया व वरला -बलवाड़ी मार्गो पर स्थित छोटे नदी और नाले उफान के होने चलते सड़क मार्ग बाधित रहा। बड़वानी जिले के पानसेमल के समीप सेंधवा -खेतिया राज मार्ग पर स्थित पुलिया पर बाढ़ आ जाने के चलते आवागमन में दिक्कत जा रही है।

बड़वानी के समीप राजघाट पर नर्मदा नदी पर स्थित पुराने पुल पर आज जल स्तर 131 मीटर (खतरे के निशान से करीब साढे 7 मीटर ऊपर ) पहुंच जाने के चलते सरदार सरोवर बांध से डूब प्रभावित कुछ अन्य ग्रामों के लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया जा रहा है। कल भी विभिन्न ग्रामों से लोगों को स्थानांतरित किया था। साथ ही रामपुरा (छोटा बडदा) के कुछ परिवारों को नर्मदा की बाढ़ में चारों तरफ से फंस जाने के चलते संयुक्त दलों ने रेस्क्यू कर सुरक्षित स्थान पहुंचाया था।

बड़वानी से सटे जिलों में भी अनवरत वर्षा जारी है किंतु गुजरात के केवड़िया कॉलोनी स्थित सरदार सरोवर बांध में आज तड़के बांध के गेट खोल दिए जाने के बाद नर्मदा के स्तर में कमी होने की संभावना जताई गई है।

गत 7 अगस्त से नर्मदा बचाओ आंदोलन का सरदार सरोवर परियोजना से जुड़े मुद्दों पर राजघाट में आरंभ हुआ सत्याग्रह कल देर रात जिला प्रशासन से चर्चा होने के बाद दो दिन पूर्व ही समाप्त कर दिया गया।

बड़वानी जिले के सेंधवा ग्रामीण थाना क्षेत्र के गोई में दो आदिवासी किसानों के घरों की दीवार गिर गई लेकिन किसी तरह की हानि की सूचना नहीं है। इसी तरह निवाली कस्बे में भी कुछ बस्तियों में पानी घुस जाने की सूचना है।सेंधवा अनु विभाग के रलावती में गोई नदी पर स्थापित बांध के पूरी तरह भर जाने के चलते उससे हुए ओवरफ्लो की वजह से कुछ खेतों में पानी घुस गया है।

उधर खरगोन जिले में भी नर्मदा की विभिन्न सहायक नदियों व नालों के उफान के चलते विभिन्न रास्ते बाधित हुए हैं। खरगोन के समीप सेगांव स्थित पुलिया पर पानी आ जाने के चलते खंडवा वड़ोदरा राजमार्ग कई बार बाधित हुआ । इसी तरह खरगोन जिले के बरुड़, उमर खली और सिनगुन क्षेत्रों में भी भारी बारिश के चलते कई सड़क मार्ग अवरुद्ध हुए हैं।

प्लीज सब्सक्राइब यूट्यूब चैनल

गोवर्मेन्ट एप्रूव्ड प्लाट व फार्महाउस मात्र रु. 2600/- वर्गगज, टोंक रोड (NH-12) जयपुर में 9314166166

More From state

Trending Now
Recommended