संजीवनी टुडे

ग्लोबल वार्मिंग से पशुओं की सुरक्षा कठिन चुनौती: डॉ. एमपी सिन्हा

संजीवनी टुडे 31-03-2019 15:46:28


रांची। बिरसा कृषि विश्वविद्यालय, रांची में प्रसार शिक्षा निदेशालय एवं पशु चिकित्सा संकाय के संयुक्त तत्वावधान में जलवायु परिवर्तन का पशुधन एवं पोल्ट्री पर प्रभाव एवं निपटने की रणनीति विषयक तीन दिवसीय प्रशिक्षण कार्यक्रम का समापन देर शाम हुआ। इस मौके पर मुख्य अतिथि डीन वेटनरी डॉ. एमपी सिन्हा ने प्रतिभागी केवीके वैज्ञानिकों को प्रमाणपत्र प्रदान किया। 

मात्र 240000/- में टोंक रोड जयपुर में प्लॉट 9314166166

मौके पर डॉ. सिन्हा ने केवीके वैज्ञानिकों को जलवायु परिवर्तन के प्रभाव से पशुओं के संरक्षण के लिए वैज्ञानिक प्रबंधन के प्रचार-प्रसार और निबटने की कारगर रणनीति अपनाने पर बल दिया। उन्होंने कहा कि वर्तमान में जलवायु परिवर्तन के प्रभाव से पशुओं की सुरक्षा काफी कठिन चुनौती बन गई है। भारत ही नहीं, विश्व के सभी देश इस चुनौती के लिए रणनीति बना रहे हैं। 

MUST WATCH & SUBSCRIBE

मौके पर निदेशक प्रसार डॉ. आरएस कुरील ने कहा कि ग्रामीण विकास में कृषि के साथ पशुधन का महत्वपूर्ण स्थान है। जलवायु परिवर्तन के प्रभाव से पशुधन एवं पोल्ट्री क्षेत्र के उत्पादन एवं उत्पादकता को कम करने में केवीके वैज्ञानिकों को निरंतर सजग और व्यापक स्तर पर ग्रामीणों को जागरूक करना होगा। कार्यक्रम के संयोजक डॉ. सुशील प्रसाद ने जलवायु परिवर्तन के प्रभाव से निबटने के लिए तकनीकी रणनीति की जानकारी दी। कार्यक्रम का संचालन डॉ. निभा बाडा और धन्यवाद ज्ञापन डॉ. रवींद्र कुमार ने किया। मौके पर डॉ. शंकर कुमार सिंह, डॉ. कोमल, डॉ. पंकज सेठ, डॉ. मुकेश कुमार आदि भी मौजूद थे।

More From state

Trending Now
Recommended