संजीवनी टुडे

अधिक मतदान कराने में मीडिया की भूमिका महत्वपूर्णः डीएम

संजीवनी टुडे 16-03-2019 17:09:39


हरिद्वार। लोकसभा निर्वाचन के लिए मीडिया के सम्बंध में जारी गाइडलाइंस के सम्बंध में जिला निर्वाचन अधिकारी दीपक रावत ने मीडिया को लोकतन्त्र का चौथा स्तम्भ बताते हुए कहा कि मीडिया निर्वाचन में भी महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। उन्होंने कहा कि मीडिया के माध्यम से अधिक से अधिक वोटिंग कराने के लिए चलाए जा रहे जागरूकता कार्यक्रमों की जानकारी आमजन तक पहुंचाई जा सकती है। 

निर्वाचन की सुविधा के लिए सी-विजिल एप शुरू किया गया है, जिसके माध्यम से कोई भी व्यक्ति आदर्श आचार संहिता के उल्लंघन की शिकायत कर सकता है। उन्होंने कहा कि 100 मिनट के अंदर उस शिकायत पर कार्यवाही सुनिश्चित की जाएगी। वोटर हेल्प लाइन टोल फ्री नम्बर 1950 एवं वोटर हेल्पलाइन ऐप के माध्यम से निर्वाचन से संबंधित सभी तरह की जानकारी प्राप्त की जा सकती है। इस ऐप के माध्यम से कोई भी व्यक्ति, वोटर लिस्ट में नाम है या नहीं और यदि नहीं है की जानकारी प्राप्त कर सकता है। इसके साथ ही मतदाता सूची में अपना नाम शामिल या परिवर्तित भी करा सकता है।

मात्र 240000/- में टोंक रोड जयपुर में प्लॉट 9314166166

विज्ञापन अनुश्रवण समिति के सचिव, नोडल अधिकारी सूचना, मनोज कुमार श्रीवास्तव ने पेड न्यूज से सम्बन्धित विभिन्न विषयों के संबंध में कहा कि पेड न्यूज मतदाताओं को प्रभावित कर सकती है, जो लोकतन्त्र के लिए हानिकारक होती है। इस पर नियन्त्रण के लिए भारत निर्वाचन आयोग द्वारा कठोर कदम उठाए गए हैं, जिनके फलस्वरूप पेड न्यूज पर काफी हद तक नियन्त्रण किया गया है। 
निर्वाचन आयोग द्वारा अधिक से अधिक मतदाताओं को मतदान के लिए जागरूक करने के लिए चलाए जा रहे, वोटिंग प्रक्रिया को और पारदर्शी बनाए जाने के लिए राज्य में शत प्रतिशत वीवीपीएटी का प्रयोग किया जा रहा है।

MUST WATCH & SUBSCRIBE

उन्होंने कहा कि निर्वाचन से जुड़े अधिकारियों को दिव्यांगों की आवश्यकतानुसार साईन लेंग्वेज आदि की ट्रेनिंग दी गई है। उन्होंने मीडिया से अनुरोध किया कि भारत निर्वाचन आयोग के प्रयासों की जानकारी को अधिक से अधिक प्रचारित करें ताकि मतदाता इनका लाभ उठा सकें। निर्वाचन प्रक्रिया की कवरेज व इसके लिए मीडिया को जरूरी सुविधाएं उपलब्ध करवाने के लिए भारत निर्वाचन आयोग की गाईडलाईन है, प्रिन्ट और इलैक्ट्रॉनिक मीडिया को किसी भी प्रकार की अफवाहों, आधारहीन अटकलबाजियों व गलत सूचनाओं से बचना चाहिए।
 

More From state

Trending Now
Recommended