संजीवनी टुडे

भोजपुर-बक्सर के लोगो की गुजरात मे फंसे होने की सूचना पर RK सिन्हा ने दी बड़ी राहत

संजीवनी टुडे 10-04-2020 18:05:05

रहने,खाने पीने और अन्य सुविधाएं बड़े पैमाने पर बहाल की गई है जिससे संकट में फंसे बिहार के लोगों को बड़ी राहत मिली है।


आरा। भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के वरिष्ठ नेता और एशिया की सबसे बड़ी निजी सुरक्षा एजेंसी एसआइएस के संस्थापक अध्यक्ष रवीन्द्र किशोर सिन्हा और एसआइएस के समूह प्रबंध निदेशक (एमडी) व फिक्की में सुरक्षा एजेंसी के चेयरमैंन ऋतुराज सिन्हा द्वारा कोरोना के खिलाफ जारी जंग में कोरोना पर जीत और देश के नागरिको की सुरक्षा और सेवा का संयुक्त अभियान लगातार जारी है। 

देश के सुदूरवर्ती राज्यों में लॉकडाउन के कारण जहां-तहां फंसे बिहार के लोगो को रहने,खाने पीने और अन्य सुविधाएं बड़े पैमाने पर बहाल की गई है जिससे संकट में फंसे बिहार के लोगों को बड़ी राहत मिली है। इसके साथ ही बिहार के अलावा देश भर में लॉकडाउन में फंसे गरीबों,असहायों और जरूरतमंद लोगो की सेवा में एसआइएस के लाखों कर्मी दिन रात जुटे हुए हैं।

संकट में फंसे ऐसे लोगो के रहने की व्यवस्था करने के साथ ही नियमित भोजन व अन्य सुविधाएं बहाल की गई है। आर के सिन्हा और ऋतुराज सिन्हा ने अपनी निजी सुरक्षा एजेंसी एसआइएस के देश के सभी 650 से अधिक कार्यालयों और 15,000 से ज्यादा यूनिट्स को पूरी तरह सुविधा केंद्र में तब्दील कर दिया है और देश के कोने कोने तक फैले इन सुविधा केन्द्रों पर लॉकडाउन में फंसे बिहार के लोगों को रहने और खाने पीने की व्यवस्था कर दी गई है। 

लॉकडाउन होने के तुरंत बाद खुद आर के सिन्हा ने अपने फेसबुक अकाउंट पर एक पोस्ट डालकर देश के विभिन्न कोने में संकट में पड़े बिहार के लोगो से अपील की थी की वे घबराएं नहीं और अपनी समस्या,स्थान और मोबाइल नम्बर उनके कमेंट्स बॉक्स में डाल दें। उन्होंने कहा था की आप देश के किसी भी कोने में जहां भी होंगे वहां आसपास एसआइएस का कार्यालय जरुर होगा और वहां से आपको सभी प्रकार की मदद मिल जाएगी। इस तरह बड़ी संख्या में लोगो को बड़ी राहत लगातार मिल रही है।

एक दिन पहले ही भाजपा के जिलाध्यक्ष डॉ.प्रेम रंजन चतुर्वेदी ने तरारी - शाहपुर और कोषाध्यक्ष दीपक सिंह ने पैठानपुर और बक्सर के लोगों के गुजरात के अलग अलग हिस्सों में फंसे होने की जानकारी की पूरी सूचि,स्थान और सम्पर्क नम्बरों के साथ सांसद के जनसंपर्क अधिकारी सतीश राजू को उपलब्ध कराई और उन्होंने तुरंत इसकी सुचना आर के सिन्हा और ऋतुराज सिन्हा को दी । सूचना प्राप्त होते ही गुजरात के नजदीकी एसआइएस कार्यालय सह सुविधा केंद्र सक्रीय हो उठा और महज कुछ ही घंटे में एसआइएस के स्थानीय अधिकारी और कर्मी सूचि में शामिल सभी लोगो के स्थान तक पहुंच गए,एक एक कर सभी को फोन किया,मिले और उन्हें सभी सुविधाएं दी गई। ये सभी लोग भोजन की समस्या सहित कई तरह की समस्याओं से जूझ रहे थे।

बता दें की भोजपुर जिले के बहियारा गांव निवासी आर के सिन्हा और ऋतुराज सिन्हा ने कोरोना के खिलाफ चल रहे युद्ध में एसआइएस के लाखों सुरक्षा कर्मियों को देश की सेवा में झोंक दिया है और ये लाखों कर्मी दिन रात देश के सरकारी और निजी क्षेत्रो के कार्यालयों,सार्वजनिक स्थानों में सेनेटाइजेसन,सुरक्षा,राहत और बचाव कार्य सहित कई प्रकार की सेवाओं में लगे हुए हैं । देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने लॉकडाउन शुरू होने के साथ ही लाखों निजी सुरक्षा कर्मियों के साहसिक कार्यो की सराहना करते हुए एसआइएस के समूह प्रबंध निदेशक ऋतुराज सिन्हा को रियल हीरो बताया था।

ऐसी ही ताजा खबरों व अपडेट के लिए डाउनलोड करे संजीवनी टुडे एप

More From state

Trending Now
Recommended