संजीवनी टुडे

मोदी राज में दलित -पिछड़े युवाओं के जीवन में आया क्रांतिकारी बदलाव: राजीव रंजन

संजीवनी टुडे 14-02-2019 16:42:36


पटना। भाजपा प्रवक्ता और पूर्व विधायक राजीव रंजन ने कहा कि मोदी राज में दलितों और पिछड़े युवकों के जीवन में क्रान्तिकारी बदलाव आया है। उन्होंने कहा कि 2014 में सत्ता में आने के बाद से मौजूदा सरकार ने सबका साथ सबका विकास के अपने संकल्प के तहत, दशकों से विकास की मुख्यधारा से कटे - पिछड़े तथा दलित समाज के युवाओं के शैक्षणिक, आर्थिक और सामाजिक विकास के लिए अलग से विशेष ध्यान दिया है। 

जयपुर में प्लॉट मात्र 2.30 लाख में Call On: 09314188188

उन्होंने गुरुवार को कहा कि सरकार की मंशा रही है कि इस समाज के युवा आत्मनिर्भर हो आगे बढ़ें, वे नौकरी मांगने वाले की जगह नौकरी देने वाले बनें। यही वजह है कि इस समाज के युवाओं की उद्यमिता को निखारने के लिए केंद्र बीते साढ़े चार वर्षों में अनेक मोर्चों पर एक साथ कार्यरत रहा है। 

इन समुदायों के युवाओं की उद्यमिता निखारने के लिए केंद्र की ओर से शुरू किए गए वेंचर कैपिटल फंड की बात करें तो इसके तहत आज दलित समुदाय के युवाओं को 50 लाख से 15 करोड़ तक का ऋण दिया जा रहा है। इस योजना की सबसे खास बात यह है कि ऋण की 80 फीसदी राशि की गारंटी खुद केंद्र सरकार दे रही है। 

मुद्रा योजना के तहत अभी तक साढ़े 15 करोड़ से अधिक लोगों के बीच 8 लाख करोड़ रुपये से ज्यादा की राशि वितरित की जा चुकी है, जिसके लाभान्वितों में इस समाज के लोग काफ़ी ज्यादा संख्या में हैं। इसके अलावा केंद्र सरकार उनके लिए अलग से मुद्रा बैंक की शुरुआत करने वाली है, जिसकी शुरुआत 20 हजार करोड़ रुपए के कोष से की जाएगी।

राजीव रंजन ने कहा कि सरकार ने इन समाजों के युवाओं की शिक्षा को ध्यान में रखते हुए उनके लिए नि:शुल्क कोचिंग की भी व्यवस्था की है, जिसमें स्थानीय छात्रों के लिए वजीफे की राशि को 1500 से बढ़ाकर 2500 और बाहरी छात्रों के लिए 3000 को बढ़ा कर 5000 रु कर दिया गया है। इसके अलावा दलित समुदाय के उत्कृष्ट शिक्षा के लिए राष्ट्रीय फेलोशिप के तहत मिलने वाली राशि को 4.5 लाख रुपये से बढ़ाकर 6 लाख कर दिया गया है।

MUST WATCH & SUBSCRIBE

साथ ही उन्हें मिलने वाली केन्द्रीय सहायता को 25 हजार से बढ़ाकर 28 हजार रु कर दिया गया है। सरकार के इन प्रयासों से आज इस समाज के करोड़ों युवाओं की जिंदगी पूरी तरह बदल चुकी है और भविष्य में दलित-पिछड़े समाज पर भी इसका सकारात्मक असर स्पष्ट दिखाई देगा।

More From state

Trending Now
Recommended