संजीवनी टुडे

साढ़े चार सौ जनजाति प्रतिभाओं का सम्मान

संजीवनी टुडे 17-02-2019 21:14:22


उदयपुर। अष्टम अंचल स्तरीय जनजाति प्रतिभावान एव सर्व समाज शिक्षक गौरव समारोह का रविवार को सुखाड़िया विश्वविद्यालय के स्वामी विवेकानंद सभागार में सम्पन्न हुआ। समारोह के मुख्य अतिथि मंत्री मास्टर भंवर लाल मेघवाल ने कहा कि राजनीति से ऊपर उठकर सामाजिक कार्य किए जाने चाहिए इससे समाज तेज गति से आगे बढ़ता है। 

विशिष्ट अतिथि जनजाति क्षेत्रीय विकास मंत्री अर्जुन सिंह बामनिया ने युवाओं का मार्गदर्शन किया कि समाज में जोड़ने वाली गतिविधियों को अधिक से अधिक आगे लाना चाहिए और समाज को तोड़ने वाली गतिविधियों को हतोत्साहित करना चाहिए ताकि समाज में सद्भाव के साथ विकास हो। उन्होंने उपस्थित जन समूह को बताया कि जनजाति क्षेत्र विकास विभाग द्वारा जयपुर में 150 क्षमता का एक हॉस्टल का निर्माण किया जाएगा जिसमें शिक्षा की नए आयामों में शिक्षण-प्रशिक्षण की व्यवस्था होगी जिसमें 100 छात्र एवं 50 छात्राओं की क्षमता होगी जो विभिन्न प्रतियोगिता परीक्षाओं की तैयारी करेंगे। 

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने अपने भेजे गए संदेश में कहा कि संस्थान ने सामाजिक सद्भाव कायम करने में उत्कृष्ट उदाहरण प्रस्तुत किया है जो सभी के लिए अनुकरणीय है। कार्यक्रम के अध्यक्ष रघुवीर सिंह मीणा ने कहा कि सकारात्मक कार्यों से समाज की प्रगति में बढ़ावा मिलता है और युवाओं को अधिक से अधिक एकजुट होकर बदलते जमाने के हिसाब से अच्छे और अभिनव कार्य करने चाहिए जिससे समाज और क्षेत्र की उन्नति हो। संस्थान के राजस्थान के केंद्रीय संयोजक व सांसद अर्जुन लाल मीणा कहा कि अनुसूचित क्षेत्र में 80 प्रतिशत से अधिक अंक लाने वाली बालिकाओं को दिल्ली दर्शन कराया जाएगा। 

जयपुर में प्लॉट मात्र 2.30 लाख में Call On: 09314188188

इस अवसर पर कुल 453 प्रतिभाओं का सम्मान किया गया। इनमें भारतीय तीरंदाजी टीम के अन्तरराष्ट्रीय कोच जयंती लाल मनोचा को मानगढ़ गौरव पुरस्कार प्रदान किया गया। इसी तरह 70 शिक्षकों को नानाभाई खाट शिक्षक गौरव सम्मान, 27 खेल प्रतिभाओं को लिम्बाराम खेल रत्न पुरस्कार, 20 को आदिकवि वाल्मीकि पुरस्कार, 147 स्कूली छात्राओं को वीर बाला कालीबाई पुरस्कार, 129 छात्रों को वीर एकलव्य पुरस्कार, 40 को सामाजिक नेतृत्व पुरुष पुरस्कार तथा 60 प्रतिभाओं को राणा पूंजा पुरस्कार से सम्मानित किया गया। 

MUST WATCH & SUBSCRIBE

इस अवसर पर डॉ. रजनी पी. रावत द्वारा संपादित पुस्तक अनुसूचित क्षेत्र में संवैधानिक प्रावधान, संस्थान की स्मारिका उड़ान-एक प्रेरणा तथा हरीश मेघवाल द्वारा संपादित गवरी पुस्तक का विमोचन भी किया गया। कार्यक्रम को डॉ. पी.के. दशोरा, पूर्व सांसद ताराचंद भगोरा, डॉ. थावर चन्द डामोर, विधायक डूंगरपुर गणेश घोघरा, प्रधान सेमारी सोनल, प्रधान लसाड़िया कन्हैयालाल मीणा ने भी संबोधित किया।
 

More From state

Loading...
Trending Now
Recommended