संजीवनी टुडे

अमर दुबे को शरण देने के आरोप में गिरफ्तार रिश्तेदारों की थाने से रिहाई, दो सगे भाईयों को दी क्लीन चिट

संजीवनी टुडे 11-07-2020 21:36:26

मौदहा कस्बे में विकास दुबे के साथी अमर दुबे के एनकाउन्टर के बाद उसे शरण देने के आरोप में हिरासत में लिये गये रिश्तेदारों को पुलिस ने शनिवार को छोड़ दिया है।


हमीरपुर। मौदहा कस्बे में विकास दुबे के साथी अमर दुबे के एनकाउन्टर के बाद उसे शरण देने के आरोप में हिरासत में लिये गये रिश्तेदारों को पुलिस ने शनिवार को छोड़ दिया है। कोतवाली प्रभारी मनोज कुमार शुक्ला ने बताया कि इन दोनों सगे भाईयों का अमर दुबे से कोई लेना देना नहीं है।  

कानपुर में हुए पुलिस के सामूहिक हत्याकांड के आरोपी अमर दुबे को कोतवाली पुलिस व एसटीएफ ने आठ जुलाई की सुबह नेशनल मार्ग पर एक मुठभेड़ के दौरान मार गिराया था। मुठभेड़ से पहले सात जुलाई के रात अमर दुबे ग्राम अरतरा में अपने दूर के रिश्तेदार दिनेश उर्फ डब्ल्यू दीक्षित के मना करने के बाद भी अनुनय विनय कर सुबह जाने की बात कह उनके घर में रुक गया था।

 जिस पर कोतवाली पुलिस ने एनकाउंटर के बाद दिनेश उर्फ डब्ल्यू दीक्षित व उसकी पत्नी समेत भाई सतीश को आठ तारीख की शाम हिरासत में ले लिया था, जिसमें पुलिस ने पूछताछ के बाद दिनेश की पत्नी को उसी दिन छोड़ दिया था लेकिन दोनों भाईयों से तीन दिन तक लगातार पूछताछ करती रही। पुलिस ने इस मामले में उनके किसी तरह से संलिप्त ना होने की जांच कर आज दोनों भाईयों को कोतवाली से रिहा कर दिया।

 कोतवाली से निकलते ही दोनों भाईयों ने राहत की सांस ली। डब्ल्यू दीक्षित ने बताया उन्होंने अमर दुबे को अपने घर में रोकने को बहु तेरा मना किया था, लेकिन वह सुबह जाने की बात कहकर जबरन वहीं लेट गया, उसके चलते हमें तीन दिन पुलिस हिरासत में रहना पड़ा।

यह खबर भी पढ़े: राजस्थान/ भीलवाड़ा में पहली बार मृत्युभोज करने पर लगा 10 हजार का जुर्माना, कार्रवाई से मची हड़बड़ी

ऐसी ही ताजा खबरों व अपडेट के लिए डाउनलोड करे संजीवनी टुडे एप

More From state

Trending Now
Recommended