संजीवनी टुडे

रंजिशन युवक की गला रेतकर हत्या, चार गिरफ्तार

संजीवनी टुडे 17-04-2019 14:22:14


नई दिल्ली। दक्षिण जिले के नेब सराय थाना इलाके में एक युवक की गला रेतकर हत्या कर दी गई। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए नजदीकी अस्पताल के शवगृह में सुरक्षित रखवा दिया है। 

मात्र 240000/- में टोंक रोड जयपुर में प्लॉट 9314166166

दक्षिण जिले के डीसीपी विजय कुमार के अनुसार मृतक की पहचान सुजीत शर्मा (24) के रूप हुई है। पुलिस ने हत्या व साक्ष्य छुपाने का केस दर्ज कर चार आरोपितों को गिरफ्तार किया है। 

आरोपितों की पहचान सोमबीर सिंघल,विक्की झा, सतबीर और विक्की भट्ट के रूप में हुई है। सोमबीर स्कूल कैब ड्राइवर है और विक्की मैक्स अस्पताल में सफाई कर्मचारी का काम करता है। आरोपितों ने मारपीट का बदला लेने के लिए वारदात को अंजाम दिया था। फिलहाल पुलिस आरोपितों के दो साथी गोलू और रविंदर बिष्ट की तलाश कर रही है। 

जानकारी के अनुसार सुजीत शर्मा परिवार के साथ नेब सराय इलाके में रहता था। वह एक फूड कंपनी में डिलीवरी का काम करता था। मृतक के पिता अरुण कुमार ने बताया कि सुजीत गत 15 की दोपहर ड्यूटी करके घर लौटा था। 

उसके बाद उसके किसी दोस्त का फोन आया और वह चला गया, उसके बाद वह घर नहीं लौटा। रात भर परिवार वालों ने उसकी आसपास खोजबीन की फिर फोन से पूछताछ किया लेकिन जानकारी नहीं मिली। उसका फोन भी स्विच ऑफ मिला। अगले दिन शाम के समय परिवार ने सुजीत की गुमशुदगी थाने में दर्ज करवाई। 

पुलिस पर गंभीर आरोप 
मृतक सुजीत के भाई अभय ने बताया कि जब हमने पुलिस को जाकर थाने में सूचना दी तो पुलिस ने कोई एक्शन नहीं लिया और ना ही ढूंढने में कोई मदद की। बुधवार सुबह नेब सराय थाने से करीब 200 मीटर की दूरी पर एक खाली प्लाट में सुजीत का शव मिला। परिवार के अनुसार अगर पुलिस समय पर ढूंढने की कोशिश करती तो शायद उसका भाई अभी जिंदा होता। 

डीसीपी के अनुसार बुधवार सुबह करीब पौने छह बजे नेब सराय थाना पुलिस को सूचना मिली कि एक युवक का शव खाली प्लाट में पड़ा हुआ है। मौके पर पहुंची पुलिस ने पाया कि शव मिट्टी में दबा हुआ है। सुजीत की गर्दन को रेता गया था। 

एक साल पहले हुआ था झगड़ा 
पुलिस के अनुसार जांच के दौरान पुलिस को पता चला कि सुजीत का करीब एक साल पहले सोमबीर और विक्की से झगड़ा हुआ था। उक्त झगड़े में सुजीत ने दोनों को बुरी तरह से पीटा था। आगे की जांच में पता चला कि गत 15 अप्रैल की देर शाम को सुजीत को सोमबीर के साथ देखा गया है। 

MUST WATCH & SUBSCRIBE

पुलिस ने शक के आधार पर सोमबीर को हिरासत में लेकर सख्ती से पूछताछ की तो उसने अपना अपराध कबूल लिया। उसके बाद उसकी निशानदेही पर बाकी तीन अन्य आरोपितों को पुलिस ने दबोच लिया। पूछताछ में आरोपितों ने बताया कि मारपीट का बदला लेने के लिये उन्होंने सुजीत की हत्या की थी। 

More From state

Trending Now