संजीवनी टुडे

भेरहरिया-सियारामपुर सड़क को लेकर मतदाताओं को मनाने की कोशिश की रामकृपाल ने

संजीवनी टुडे 03-05-2019 14:39:56


पटना। केंद्रीय मंत्री और पाटलिपुत्र से भाजपा के उम्मीदवार रामकृपाल यादव विकास कार्यों को लेकर अपने क्षेत्र के सवर्ण वोटरों की नाराजगी देख उन्हें मनाने की पुरजोर कोशिश कर रहे हैं और एक हद तक उन्हें इसमें कामयाबी भी मिल रही है। पालीगंज थाना स्थित भेरहरिया-सियारामपुर सड़क का निर्माण न होने की वजह से उस इलाके के तकरीबन 4-5 गांवों को लोगों ने चुनाव का बहिष्कार और नोटा दबाने का निर्णय ले लिया था। इससे संबंधित तख्तियां भी सड़क के किनारे कई महत्वपूर्ण स्थानों पर लटका दी गई थीं। चूंकि इस इलाके का अधिकतर गांव सवर्णों का है। पहले वे परांपरागत रुप से कांग्रेस का वोटर हुआ करते थे, लेकिन समय के साथ उन्होंने भाजपा को समर्थन देना शुरु कर दिया।

मात्र 240000/- में टोंक रोड जयपुर में प्लॉट 9314166166

 2014 में भेरहरिया और सियारामपुर के बाशिंदों ने भाजपा के उम्मीदवार रामकृपाल यादव के पक्ष में मतदान किया था। लेकिन जिस तरह से उन्होंने भेरहरिया-सियारामपुर सड़क की अनदेखी की है उससे वहां के लोग काफी नाराज थे। यह सड़क अगल -बगल के 4-5 गांवों को एक दूसरे से जोड़ती है। इस सड़क की हालत इस कदर जर्जर हो चुकी है कि रफ्तार से चलने वाली आधुनिक गाड़ियां इस सड़क पर उतरते ही बैलगाड़ी की चाल से चलने के लिए मजबूर हो जाती हैं। यह सड़क प्रधानमंत्री सड़क निर्माण योजना के तहत आती है।

चूंकि रामकृपाल यादव इस क्षेत्र से सांसद हैं इसलिए इस इलाके लोग इस सड़क का निर्माण ने होने के लिए सीधे तौर पर उन्हें ही जिम्मेदार ठहरा रहे हैं। मजे की बात है इस बात की जानकारी खुद रामकृपाल यादव को भी नहीं थी। हाल ही में कांग्रेस छोड़कर भाजपा में शामिल हुए कांग्रेस प्रवक्ता विनोद शर्मा इस बात की जानकारी उस वक्त दी जब वह एक विवाह कार्यक्रम में शामिल होने के लिए उस क्षेत्र में गये थे। उस क्षेत्र के लोगों ने साफ कह दिया था कि वे लोग इस बार भेरहरिया-सियारामपुर सड़क के निर्माण को लेकर नोटा दबाने का मन बना चुके थे। 

MUST WATCH & SUBSCRIBE

विनोद शर्मा ने उसी वक्त रामकृपाल यादव से फोन पर बात करते हुये वहां के हालात से उन्हें अवगत कराया। इसके बाद रामकृपाल यादव ने फोन पर ही गांव के वरिष्ठ लोगों से बातचीत की और उन्हें समझाया कि भेरहरिया-सियारामपुर सड़क के निर्माण की मंजूरी मिल चुकी है। चूंकि अभी आदर्श आचार संहिता लागू है इसलिए फिलहाल अभी इस संबंध में कुछ नहीं किया जा सकता । उन्होंने गांव वालों को यकीन दिलाया कि चुनाव की समाप्ति के तुरंत बाद इस सड़क का निर्माण करा दिया जाएगा। उनके आश्वासन से गांववाले नरम हुये। 

More From state

Trending Now
Recommended