संजीवनी टुडे

राजस्थान: प्रदेश की जेलों में लगातार मिल रहे मोबाइल, अब दिन में 2 बार कैदियों की होगी तलाशी

संजीवनी टुडे 03-06-2020 14:45:48

प्रदेश की जेलों में लगातार मिल रहे मोबाइल व हाई सिक्युरिटी सेल में बंद होने के बावजूद बंदियों के मोबाइल से वारदातें करवाने जैसे खुलासों के बाद जेल प्रशासन ने सख्ती शुरू कर दी है।


जोधपुर। प्रदेश की जेलों में लगातार मिल रहे मोबाइल व हाई सिक्युरिटी सेल में बंद होने के बावजूद बंदियों के मोबाइल से वारदातें करवाने जैसे खुलासों के बाद जेल प्रशासन ने सख्ती शुरू कर दी है। अब प्रदेश की जोधपुर सहित जयपुर, बीकानेर, कोटा व उदयपुर जैसी बड़ी जेलों की हाई सिक्युरिटी सेल में दिन में दो बार तलाशी लेने का निर्णय किया है, ताकि इन बंदियों के पास मोबाइल पकड़ा जा सके। जेल प्रशासन ने अपनी ही जेलों के स्टाफ को सख्त किया है। वहीं दूसरी ओर छोटी जेलों में क्षमता से अधिक बंदी होने से बुरे हाल हो रहे हैं।

जोधपुर जेल में बंद शूटर लॉरेंस विश्नोई के पास हाल ही में मोबाइल मिला है। वह जेल की हाई सिक्युरिटी सेल में बंद था, उसके पास मोबाइल कहां से आया, इसकी जांच जारी है। साथ ही हाई सिक्युरिटी सेल में दिन में दो बार तलाशी का निर्णय किया गया है। बीकानेर जेल में सबसे पहले यह सिलसिला शुरू किया गया है। इधर कोरोना संक्रमण के बीच छोटी जेलों का बुरा हाल है।

तमाम प्रयासों के बावजूद क्षमता से अधिक बंदी जिलों की छोटी जेलों में बंद है। पाली जेल में बंदियों की क्षमता 65 की है, वर्तमान में यहां 116 बंदी बंद है। गर्मी व कोरोना के बीच इन बंदियों को सुरक्षित रखना चुनौती हो गया है। पाली जिले की सोजत, जैतारण, बाली जेल का भी यहीं हाल है। 

यह खबर भी पढ़े: छत्तीसगढ़: जून माह के राशन के साथ अप्रैल एवं मई माह की शेष खाद्यान्न सामग्री उपलब्ध कराने का आदेश जारी

ऐसी ही ताजा खबरों व अपडेट के लिए डाउनलोड करे संजीवनी टुडे एप

More From state

Trending Now
Recommended