संजीवनी टुडे

राजस्थान: बांसवाड़ा अब कोरोना के खौफ से मुक्त, प्रवासियों के माथे से धुलने लगा दाग

संजीवनी टुडे 03-06-2020 16:06:37

राजस्थान के मध्यप्रदेश और गुजरात की सरहद से लगता बांसवाड़ा जिला पूरी तरह कोरोना संक्रमण से मुक्त हो चुका है। यहां लम्बे समय से एक भी नया कोरोना संक्रमित नहीं मिला है।



जयपुर। राजस्थान के मध्यप्रदेश और गुजरात की सरहद से लगता बांसवाड़ा जिला पूरी तरह कोरोना संक्रमण से मुक्त हो चुका है। यहां लम्बे समय से एक भी नया कोरोना संक्रमित नहीं मिला है। बांसवाड़ा जिले में बीते दिनों कुल 85 कोरोना संक्रमित मिले थे, इनमें से 83 संक्रमित ठीक होकर घर वापसी कर चुके हैं, जबकि 2 संक्रमितों की मौत हो चुकी है। बांसवाड़ा जिले में गुजरे दिनों बाहर से 8 प्रवासियों की आवक हुई थी और ये सभी प्रवासी ठीक होकर घर लौट चुके हैं। बांसवाड़ा जिले में कोरोना का आखिरी संक्रमित 23 मई को मिला था। इसके बाद से बांसवाड़ा जिले में एक भी नया संक्रमित नहीं मिला है।

corona virus

तीन जिले बढ़ा रहे कदम
राज्य में प्रतापगढ़, सवाईमाधोपुर व टोंक जिला भी कोरोनामुक्त होने के कगार पर पहुंच गए हैं। तीनों जिलों में कोरोना के सक्रिय केसों की तादाद इकाई के आंकड़े में आ गई हैं। प्रतापगढ़ जिले में अब तक 14 संक्रमित मिले थे। इनमें से 11 ठीक होकर घरों को लौट चुके हैं, जबकि 1 संक्रमित की मौत के बाद अभी 2 केस सक्रिय हैं। सवाईमाधोपुर जिले में मिले 20 संक्रमितों में से 16 ठीक हो चुके हैं, जबकि 1 संक्रमित की मौत के बाद यहां 3 केस सक्रिय हैं। इसी तरह टोंक जिले में मिले 166 संक्रमितों में से 161 ठीक हो चुके हैं। यहां 1 संक्रमित की मौत हो चुकी हैं, जबकि अभी 5 केस सक्रिय है।

corona virus

प्रवासियों के माथे से धुलने लगा दाग
कुछ समय पहले तक विभिन्न प्रदेशों से राजस्थान में अपनी धरती पर लौट रहे प्रवासियों के माथे पर कोरोना संक्रमण का दाग लग रहा था। प्रवासी श्रमिक और प्रवासी अब पूरी तरह घरवापसी कर चुके हैं। ऐसे में उनके माथे पर लगा कोरोना फैलाने का दाग भी कई जिलों में धुलने लगा है। प्रदेश के डूंगरपुर में सर्वाधिक 331 प्रवासी लौटे थे। यहां प्रवासियों समेत कुल 371 संक्रमित पाए गए थे। इनमें से 258 लोग अब तक ठीक हो चुके हैं और इनमें 230 को अस्पतालों से घर भेजा जा चुका है। डूंगरपुर में अभी कोरोना के 113 सक्रिय केस है। कमोबेश ऐसा ही हाल उन जिलों का भी हैं, जहां बीते दिनों बड़ी संख्या में प्रवासी लौटे थे। इन जिलों में हालांकि, अन्य संक्रमितों की बड़ी तादाद के कारण रिकवरी दर काफी धीमी है।

यह खबर भी पढ़े: महाराष्ट्र: निसर्ग तूफान ने रायगढ़ में तबाही मचाई, तीन घंटे रहेगा असर

ऐसी ही ताजा खबरों व अपडेट के लिए डाउनलोड करे संजीवनी टुडे एप

More From state

Trending Now
Recommended