संजीवनी टुडे

राजस्थान/ श्रमिकों का पलायन जारी: बस स्टैंड पर उमड़ी भीड़, जांच के बाद बस में हुए रवाना

संजीवनी टुडे 29-03-2020 22:02:03

देशभर में लागू लॉक डाउन के बीच जोधपुर में काम करने वाले प्रवासी श्रमिकों का पलायन रविवार को भी जारी रहा। रोडवेज बस स्टैंड पर बड़ी संख्या में इन श्रमिकों के पहुंचने का क्रम जारी है।


जोधपुर। देशभर में लागू लॉक डाउन के बीच जोधपुर में काम करने वाले प्रवासी श्रमिकों का पलायन रविवार को भी जारी रहा। रोडवेज बस स्टैंड पर बड़ी संख्या में इन श्रमिकों के पहुंचने का क्रम जारी है। साथ ही इन लोगों को वापस भेजने की व्यवस्थाएं भी धीरे-धीरे पटरी पर लौट रही है। शनिवार देर रात जोधपुर से 16 बसों में करीब एक हजार श्रमिकों को जयपुर व भरतपुर रवाना किया गया था। रविवार को बड़ी संख्या में बसें भेजी गई।

जोधपुर शहर में उत्तर प्रदेश व बिहार सहित प्रदेश के अन्य जिलों से आए श्रमिक बड़ी संख्या में काम करते है। लॉक डाउन के दौरान लगातार काम बंद रहने के कारण बेरोजगार हुए इन श्रमिकों ने कुछ दिन तो जैसे-तैसे कर निकाल लिए। हालांकि शहर की विभिन्न संव्यसेवी संस्थाएं इनके लिए भोजन का प्रबंध करने में पूरी तत्परता के साथ जुटी है। इसके बावजूद इन श्रमिकों में कोरोना में भय व्याप्त हो गया और इन लोगों ने शनिवार सुबह से पलायन शुरू कर दिया। 

बड़ी संख्या में महिला व पुरुष अपने बच्चों को लेकर पैदल ही अपने गंतव्य की ओर रवाना हो गए। इसके बाद हरकत में आई राज्य सरकार ने आनन-फानन में इन श्रमिकों को रोडवेज बसों में भेजने का निर्णय कर व्यवस्थाएं बनाने का आदेश जारी किया। देर रात तक शहर में कुछ व्यवस्थाएं हुई और जोधपुर शहर से सोलह बसों को रवाना किया गया। इनमें से बनाड़ तक पैदल पहुंचे लोगों को रोक कर देर रात दो बसों में उन्हें बैठा कर रवाना किया गया। वहीं जोधपुर जिले के बालेसर में पलायन को तैयार 400 श्रमिकों के लिए रात को 8 बसें यहां से भेजी गई। 

इधर रविवार सुबह से एक बार फिर श्रमिकों का रैला रोडवेज बस स्टैंड की तरफ उमड़ पड़ा। शहर के प्रत्येक मार्ग पर ये श्रमिक अपना सामान सिर पर लादे गुजरते नजर आए। जिला प्रशासन भी पहले की अपेक्षा काफी सजग नजर आया। रोडवेज स्टैंड पर पहुंचने वाले श्रमिकों की स्क्रीनिंग की गई। इसके बाद बारी-बारी से बस में बैठाने से पूर्व सभी के हाथ सैनेटाइजर से साफ करवाए गए। आज जयपुर, कोटा व भरतपुर के लिए बड़ी संख्या में बसों को रवाना किया गया। जोधपुर में रोडवेज के चीफ मैनेजर बीआर बेड़ा ने बताया कि हमारी पूरी टीम किसी श्रमिक को पैदल नहीं जाने देगी। सभी को आराम से उनके गंतव्य तक पहुंचाया जाएगा। 

यह भी पढ़े: बिहार/ कोरोना पॉजिटिव मरीज हुए 11, संदिग्ध मरीजों की संख्या 2376 हुई, पटना एम्स में हुई थी पहली मौत

ऐसी ही ताजा खबरों व अपडेट के लिए डाउनलोड करे संजीवनी टुडे एप

More From state

Trending Now
Recommended