संजीवनी टुडे

राजस्थान/ जांच में नेगेटिव मिला अपराधी व जमानत मिली तो घर में होगा 14 दिन का एकांतवास

संजीवनी टुडे 20-05-2020 18:23:14

कोरोना वायरस के संक्रमण काल में पुलिस ने यदि किसी मामले में आरोपित को गिरफ्तार किया और उसे अदालत ने सजा सुनाई तो जिला जेल में प्रवेश से पहले उसकी कोरोना जांच करवाई जाएगी। ऐसे आरोपित को यदि जांच में नेगेटिव पाया गया तो उसे जिला या केन्द्रीय कारागृह में अलग से बनाए गए आइसोलेशन वार्ड में 21 दिन तक रखा जाएगा।


जयपुर। कोरोना वायरस के संक्रमण काल में पुलिस ने यदि किसी मामले में आरोपित को गिरफ्तार किया और उसे अदालत ने सजा सुनाई तो जिला जेल में प्रवेश से पहले उसकी कोरोना जांच करवाई जाएगी। ऐसे आरोपित को यदि जांच में नेगेटिव पाया गया तो उसे जिला या केन्द्रीय कारागृह में अलग से बनाए गए आइसोलेशन वार्ड में 21 दिन तक रखा जाएगा। इसके बाद होने वाली जांच में उसके नेगेटिव आने व अदालत की ओर से जमानत दिए जाने के बावजूद आरोपित को 14 दिन तक घर में एकांतवास किया जाएगा। प्रदेश में विभिन्न आपराधिक मामलों में गिरफ्तार किए जाने वाले आरोपितों के लिए गृह विभाग के शासन सचिव एनएल मीणा ने विस्तृत गाइडलाइन जारी की हैं।

गाइडलाइन में कहा गया है कि यदि अदालत की ओर से आरोपित का जमानत आवेदन अस्वीकार कर दिया जाता है तो आरोपित को कारागार के सामान्य वार्ड में स्थानांतरित कर दिया जाएगा। गाइडलाइन में आरोपित की गिरफ्तारी के समय उसे कैप व मास्क पहनाने, आरोपित की तलाशी के दौरान पुलिस अधिकारियों को मास्क व दस्ताने पहनने, पुलिस स्टेशन के लॉकअप को सोडियम हाइपोक्लारोइड सॉल्यूशन से सेनेटाइज करने, आरोपितों को लॉकअप में दी जाने वाली वस्तुओं को सेनेटाइज करने, आरोपित को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से मजिस्ट्रेट व न्यायालय के समक्ष प्रस्तुत कर न्यायिक अभिरक्षा के लिए आदेश लेने की हिदायतें दी गई है।

आदेश में कहा गया है कि किसी मामले में अग्रिम अन्वेषण के लिए आरोपित की केवल अदालती आज्ञा से ही पुलिस अभिरक्षा ली जा सकेगी। अति आवश्यक परिस्थितियों में कोरोना के संक्रमण काल में पुलिस रिमाण्ड लिया जा सकेगा। आरोपित को दोबारा कारागार भेजने पर दोबारा वहीं प्रक्रिया अपनाई जाएगी, जो आरोपित के प्रथम प्रवेश के समय निर्धारित की गई है। जेल अधिकारियों व उनके परिजनों को कोरोना के संक्रमण से बचाने के लिए रोजाना कोरोना रेण्डम टेस्ट करवाया जाएगा। चिकित्सा अधिकारी जिला जेलों के आइसोलेशन वार्डों में भर्ती कैदियों का नियमित स्वास्थ्य परीक्षण करेंगे। 

यह खबर भी पढ़े: कैबिनेट: आत्मनिर्भर भारत पैकेज को मंजूरी सहित कई योजनाओं को मिली हरी झंडी

ऐसी ही ताजा खबरों व अपडेट के लिए डाउनलोड करे संजीवनी टुडे एप

More From state

Trending Now
Recommended