संजीवनी टुडे

राजस्थान विधानसभा का बजट सत्र गुरुवार से

संजीवनी टुडे 26-06-2019 18:26:05

राजस्थान की पन्द्रहवीं विधानसभा का बजट सत्र गुरुवार से शुरू होगा। बजट सत्र करीब एक माह चलेगा।


जयपुर। राजस्थान की पन्द्रहवीं विधानसभा का बजट सत्र गुरुवार से शुरू होगा। बजट सत्र करीब एक माह चलेगा। विधानसभा की कार्यवाही सुचारू रूप से चलाने के लिए विधानसभा अध्यक्ष डॉ. सीपी जोशी ने बुधवार को सर्वदलीय बैठक बुलाई।

विधानसभा अध्यक्ष के कक्ष में आयोजित बैठक में कांग्रेस, भारतीय जनता पार्टी, बहुजन समाज पार्टी, राष्ट्रीय लोकदल सहित अन्य दलों के प्रतिनिधि शामिल हुए। बैठक में बजट सत्र के सदन की कार्यवाही चलाने और सही तरीके से सदन में अपनी बात रखने के मुद्दे पर चर्चा हुई। इसके अलावा बैठक में विधानसभा की सुरक्षा व्यवस्था को लेकर भी चर्चा की गई है।

विधानसभा के बजट सत्र के लिए लेकर सुरक्षा व्यवस्था के पुख्ता बंदोबस्त किए गए हैं। सदन की कार्यवाही के दौरान होने वाले धरना प्रदर्शन को देखते हुए विधानसभा की परिधी में चप्पे- चप्पे पर पुलिस बल तैनात किया जाएगा। विधानसभा के अंदर और बाहर 500 मीटर के दायरे में 1500 से भी अधिक पुलिसकर्मी तैनात किए जा रहे हैं। विधानसभा भवन में अंदर मार्शल के पास आरएसी के जवान तैनात किए गए हैं। 

सर्वदलीय बैठक के बाद मुख्य सचेतक महेश जोशी ने पत्रकारों से कहा कि विधानसभा में जनता से जुड़े मुद्दे अधिक उठे और जनता से जुड़े मुद्दों पर ज्यादा से ज्यादा बहस हो इस बात को लेकर चर्चा की गई। विपक्ष दल भाजपा भी भले ही जनता से जुड़े मुद्दे सदन में उठाये, राज्य सरकार उसका जवाब देने के लिए तैयार है। राज्य सरकार जनता से जुड़े मुद्दों पर काम कर रही है।

बैठक में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत, संसदीय कार्यमंत्री शांति धारीवाल, उपनेता राजेंद्र राठौड़, मुख्य सचेतक महेश जोशी, उप मुख्य सचेतक महेन्द्र चौधरी, चिकित्सा राज्य मंत्री सुभाष गर्ग समेत अन्य दलों के प्रतिनिधि मौजूद थे।   

सदन में हंगामे के आसार- 
सत्र से ठीक पहले रद्द की गई 11 प्रतियोगी परीक्षाओं की वजह से सरकार को परेशानी का सामना करना पड़ सकता है। एनएचएम भर्ती घोटाला, किसान कर्ज माफी, बेरोजगारी भत्ता, पेयजल की किल्लत, बिजली कटौती और प्रदेश में बिगड़ती कानून व्यवस्था को लेकर सदन में हंगामा होने के आशंका है। सदन में सरकार को घेरने के लिए विपक्ष ने पहले से ही रणनीति बना ली है। सदन में विपक्ष की ओर से नेता प्रतिपक्ष गुलाब चंद कटारिया और पूर्व मंत्री राजेन्द्र राठौड़ के कड़े तेवर देखने को मिलेंगे। 

इस बार भी सदन में नहीं पूरे दौ सौ विधायक- 
राजस्थान विधानसभा के गठन के बाद अब तक विधानसभा में एक साथ दो सौ विधायक नहीं बैठ सके हैं। किसी न किसी वजह से सदस्यों का आंकड़ा 200 के अंदर ही सिमट जाता है। इस बार भी नागौर जिले की खींवसर सीट से विधायक बने हनुमान बेनीवाल और झुंझुनू के मंडावा से विधायक बने नरेन्द्र कुमार के सांसद बनने के बाद विधानसभा की सदस्यता से इस्तीफा दे दिया था। विधानसभा अध्यक्ष डॉ. सीपी जोशी ने दोनों का इस्तीफा स्वीकार कर लिया था। इसके बाद विधानसभा सदस्यों की संख्या 200 से घटकर फिर 198 रह गई है।  

मात्र 260000/- में टोंक रोड जयपुर में प्लॉट 9314188188 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

More From state

Trending Now
Recommended