संजीवनी टुडे

रेलवे कर्मचारियों ने काशी महाकाल एक्सप्रेस के निजीकरण का किया जमकर विरोध

संजीवनी टुडे 16-02-2020 22:01:37

कैंट स्टेशन के सामने अपरान्ह बाद जुटे कर्मचारियों ने ऑल इंडिया रेलवे मेंस फेडरेशन और नार्दन रेलवे मेंस यूनियन के बैनर तले जमकर विरोध प्रदर्शन किया।


वाराणसी। रेलवे के निजीकरण और निजी ट्रेन काशी महाकाल एक्सप्रेस चलाने के विरोध में रविवार को रेलकर्मियों में उबाल आ गया। कैंट स्टेशन के सामने अपरान्ह बाद जुटे कर्मचारियों ने ऑल इंडिया रेलवे मेंस फेडरेशन  और नार्दन रेलवे मेंस यूनियन के बैनर तले जमकर विरोध प्रदर्शन किया। 

कर्मचारियों ने कहा रेलवे बोर्ड के चेयरमैन बार-बार कह रहे हैंं कि भारतीय रेलवे का निजीकरण नहीं किया जाएगा। इसके बावजूद छद्म तरीके से रेलवे का निजीकरण बदस्तूर जारी है। कर्मचारी नेता राजेश सिंह ने कहा विरोध प्रदर्शन इसलिए आवश्यक हो गया है, क्योंकि रेल मंत्रालय द्वारा बार-बार फेडरेशन के साथ छल हो रहा हैं। रेल कर्मचारियों से उनके काम को छीन कर निजी हाथों में आईआरसीटीसी के माध्यम से दिया जा रहा है।  इससे औद्योगिक शांति भंग होने की पूरी संभावना है। इसके लिए भारत सरकार पूरी तरह से जिम्मेदार होगी।

अन्य वक्ताओं ने कहा चुनावी के लिए भारतीय रेल को लागत के हिसाब से किराया बढ़ाने की अनुमति नहीं दी जाती। दूसरी तरफ निजी ऑपरेटरों को जनता को सुविधा के नाम पर लूटने की पूरी व्यवस्था की जा रही है। कर्मचारियों ने  बंदे भारत एक्सप्रेस का हवाला देकर कहा रेल कर्मी सफलतापूर्वक इसे चला रहे है। 

प्रदर्शन में सुनील सिंह, राजकुमार, डीके सिंह, राजेश शुक्ला, एससी गौतम, दरोगा प्रसाद, एके बाजपेई आदि कर्मचारी शामिल रहे।

यह खबर भी पढ़ें:​ स्कूल बस ड्राइवर ने 4 साल की बच्ची के साथ किया दुष्कर्म, आरोपी पुलिस रिमांड पर

यह खबर भी पढ़ें:​ पति से फोन पर कहासुनी होने पर नवविवाहित ने कुएं में कूदकर दी जान, छह दिन पहले हुए थी शादी

जयपुर में प्लॉट मात्र 289/- प्रति sq. Feet में  बुक करें 9314166166

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

More From state

Trending Now
Recommended