संजीवनी टुडे

हिंदू संगठनों का दबाव: छात्राओं को दिया नोटिस कालेज ने लिया वापस

संजीवनी टुडे 18-02-2019 18:27:17


गुरुग्राम। यहां सेक्टर-14 स्थित राजकीय कन्या महाविद्यालय की छात्राओं को देशभक्ति दिखाना एक तरह से महंगा पड़ गया था। क्योंकि कालेज की प्राचार्य की ओर से उन्हें अनुशासनहीनता का नोटिस जारी कर दिया गया था। अब उस नोटिस को वापस ले लिया गया है। हिंदू सेना की ओर से कहा गया है कि कालेज प्राचार्य ने उनके दबाव में आकर ऐसा किया है। 

शहीदों के सम्मान में जुलूस निकालने पर दिया था नोटिस
पुलवामा में आतंकी हमले के बाद शहीद हुए सैनिकों को श्रद्धांजलि देने और अपना आक्रोश प्रदर्शित करने के लिए सेक्टर-14 स्थित राजकीय कन्या महाविद्यालय की छात्राओं ने अपनी कॉलेज छात्र अध्यक्ष एवं पॉलिटिकल साइंस ऑनर्स में बीए द्वितीय वर्ष की छात्रा शिखा राघव के नेतृत्व में मार्च निकाला था। इसके बाद सिविल लाइन स्थित मंत्री राव नरबीर के घर तक जाकर उन्हें ज्ञापन दिया था। 

जयपुर में प्लॉट मात्र 2.30 लाख में Call On: 09314188188

नोटिस मिलने से छात्राओं में था जबरदस्त गुस्सा
इसके बाद कॉलेज की प्राचार्य ने शिखा व अन्य छात्राओं के खिलाफ अनुसाशनहीनता का नोटिस जारी कर दिया था। इस नोटिस को लेकर छात्राएं आक्रोषित थी। साथ ही इस नोटिस के खिलाफ हिंदू सेना ने कालेज के बाहर सोमवार को प्रदर्शन करने की योजना बनाई थी। इस प्रदर्शन को देखते हुए कालेज के बार पुलिस भी तैनात की गई थी। इसी बीच कालेज प्राचार्य ने जारी किए गए नोटिस को वापस ले लिया। नोटिस वापसी के बाद मामला शांत हो गया है। प्राचार्य द्वारा वापस लिया गया नोटिस शिखा राघव के नाम से संबोधित करते हुए कहा गया है कि यह नोटिस विड्रा किया जा रहा है। 

MUST WATCH & SUBSCRIBE

अपनी भावनाओं को व्यक्त करना कोई अनुशासनहीनता नहीं: शिखा
अध्यक्ष शिखा के अनुसार उन्होंने न तो कालेज कैंपस में जुलूस निकाला, जिस पर उसे अनुशासनहीनता का नोटिस दिया जाए। उन्होंने देश के शहीदों के सम्मान में यह सब किया। पूरे देश में ऐसा हो रहा है। क्या सभी अनुशासनहीनता कर रहे हैं। कालेज में उनका रिकॉर्ड बहुत अच्छा है। पढ़ाई में भी अच्छी है, ऐसे में वो इस घटना से आहत थी। हिन्दू सेना के प्रदेश अध्यक्ष ऋतुराज के अनुसार छात्राओं ने अपनी भावना व्यक्त करने के लिए मार्च किया था। आतंकी घटना के बाद पूरा देश गमगीन है। ऐसे में कॉलेज प्रिंसिपल द्वारा इस तरह का नोटिस जारी करना गलत था।

More From state

Trending Now
Recommended