संजीवनी टुडे

प्रधानमंत्री किसान मानधन योजना में किसानों को मिलेगी तीन हजार प्रतिमाह पेंशन

संजीवनी टुडे 17-02-2020 11:35:23

मध्यप्रदेश में कृषि विभाग ने किसानों से प्रधानमंत्री किसान मानधन योजना का लाभ लेने की अपील की है।


इन्दौर। मध्यप्रदेश में कृषि विभाग ने किसानों से प्रधानमंत्री किसान मानधन योजना का लाभ लेने की अपील की है। किसान इस योजना का लाभ उठा सकते हैं। इस योजना के अंतर्गत किसानों को न्यूनतम तीन हजार रुपये प्रतिमाह पेंशन दिये जाने का प्रावधान है।

कृषि उप संचालक विजय चौरसिया ने इस संबंध में जानकारी देते हुए बताया  कि प्रधानमंत्री किसान मानधन योजना  वृद्धावस्था संरक्षण और लघु और सीमांत किसानों (एसएमएफ) की सामाजिक सुरक्षा के लिए है। आयु वर्ग 18 से 40 वर्ष में दो हेक्टेयर तक की खेती करने वाले सभी छोटे और सीमांत किसान जिनके नाम एक अगस्त 2019 को राज्यों एवं केन्द्र शासित प्रदेशों के भूमि रिकॉर्ड में दिखायी देते हैं, योजना के तहत लाभ प्राप्त करने के पात्र हैं।

उन्होंने बताया कि इस योजना के तहत किसानों को 60 वर्ष की आयु प्राप्त करने के बाद प्रति माह न्यूनतम 3 हजार रुपये प्राप्त होता है और यदि किसान की मृत्यु हो जाती है, तो किसान का परिवार पेंशन के रूप में 50 प्रतिशत पेंशन पाने का हकदार होगा। पारिवारिक पेंशन केवल पति या पत्नि के लिए लागू होती है। योजना की परिपक्वता पर एक व्यक्ति तीन हजार रुपये पेंशन की मासिक पेंशन प्राप्त करने का हकदार होगा। 18 से 40 वर्ष के बीच के आवेदकों को 60 वर्ष की आयु प्राप्त करने तक मासिक योगदान 55 रुपये से 200 रुपये प्रति माह तक करना होगा। 

पात्रता मापदण्डों में लघु और सीमांत किसानों के लिए 18 से 40 वर्ष के बीच प्रवेश आयु तथा संबंधित राज्य एवं केंद्र शासित प्रदेश के भूमि रिकॉर्ड के अनुसार 2 हेक्टेयर तक खेती योग्य भूमि तथा आधार कार्ड, बचत बैंक खाता एवं पीएम किसान खाता होना अनिवार्य है।  अधिक जानकारी के लिए कृषि विभाग के विकास खण्ड कार्यालयों में संपर्क किया जा सकता है।

यह खबर भी पढ़ें:​ निर्भया के दोषियों की फांसी पर आज फिर सुनवाई, मां आशा बोलीं - आज कोर्ट में क्या होगा कुछ नहीं पता

यह खबर भी पढ़ें:​ 24 फरवरी से दो दिन के लिए भारत दौरे पर डोनाल्ड ट्रंप, 3 घंटे में गुजरात खर्च करेगा 100 करोड़

जयपुर में प्लॉट मात्र 289/- प्रति sq. Feet में  बुक करें 9314166166

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

More From state

Trending Now
Recommended