संजीवनी टुडे

कश्मीर में 14 अक्टूबर से पोस्टपेड मोबाइल फोन सेवाएं होंगी बहाल: प्रशासन

इनपुट- यूनीवार्ता

संजीवनी टुडे 12-10-2019 17:56:08

जम्मू-कश्मीर सरकार ने शनिवार को घोषणा की सभी दूरसंचार सेवा प्रदाताओं के पोस्टपेड मोबाइल फोन 14 अक्टूबर से कश्मीर घाटी में बहाल कर दिए जाएंगे।


श्रीनगर। जम्मू-कश्मीर सरकार ने शनिवार को घोषणा की सभी दूरसंचार सेवा प्रदाताओं के पोस्टपेड मोबाइल फोन 14 अक्टूबर से कश्मीर घाटी में बहाल कर दिए जाएंगे।

गत पांच अगस्त से राज्य में अनुच्छेद 370 और अनुच्छेद 35ए को समाप्त करने के बाद बीएसएनएल सहित सभी सेल्यूलर कंपनियों के इंटरनेट और प्रीपेड मोबाइल फोन सेवाएं कश्मीर घाटी में बंद कर दी गयीं थी।

यह खबर भी पढ़े: भारत चीन के बीच व्यापार घाटे को दूर करने के लिए बनेगी उच्चस्तरीय प्रणाली

प्राप्त रिपोर्ट के अनुसार घाटी में सोमवार से 40 लाख से अधिक पोस्टपेड मोबाइल फोन कनेक्शन चालू हो जाएंगे जिससे लोगों और सुरक्षा बल के कर्मियों के लिए बहुत राहत की बात मानी जा रही है। इस सेवा के बहाल होने पर वे अपने परिवार के सदस्यों से संपर्क कर सकेंगे।

जम्मू-कश्मीर सरकार के प्रवक्ता और प्रमुख सचिव रोहित कंसल, विभागीय आयुक्त बशीर खान, कश्मीर के पुलिस महानिरीक्षक (आईजीपी), एस पी पाणि और निदेशक सूचना शेहिरिश असगर ने यहां संवाददाता सम्मेलन में कहा, “राज्य में समग्र सुरक्षा स्थिति की समीक्षा करने के बाद सरकार ने पोस्टपेड मोबाइल फोन सेवाओं को बहाल करने का फैसला किया है, 14 अक्टूबर को दोपहर 12 बजे से यह सेवा बहाल हो जाएगी। यह कश्मीर के सभी 10 जिलों में बहाल होगी।”

कंसल ने कहा कि इस सेवा के बहाल होने से पर्यटक अपने परिवार से संपर्क कर सकेंगे। इसी प्रकार घाटी और जम्मू- कश्मीर से बाहर रहने वाले छात्र भी अपने अभिभावकों के संपर्क में रहेंगे और व्यापारी अपने कारोबारी साथियों से संपर्क कर सकेंगे।

प्रवक्ता ने व्यापारियों, होटल व्यवसायियों और व्यापारियों से आतंकवादियाें और अलगाववादियों से भयभीत नहीं होने और उनके बारे में जानकारी रखने का आग्रह किया। उन्होंने कहा कि जनजीवन को प्रभावित करने के किसी भी प्रयास को सुरक्षा बलों की ओर से नाकाम किया जाएगा।

कंसल ने पत्रकारों के इस प्रश्न का उत्तर देने से इनकार कर दिया कि क्या पत्रकारों के लिए इंटरनेट सेवाओं का उपयोग शुरू करने दिया जाएगा। इस प्रश्न को जब दोहराया गया तो उन्होंने कहा सरकार कुछ मीडिया हाउसों के इंटरनेट शुरू करने के अनुरोध की समीक्षा करेगी।

यह खबर भी पढ़े: फोर्ब्स सूची: मुकेश अंबानी सहित 5 सबसे अमीर भारतीयों में 4 गुजराती

विभिन्न स्थानीय, राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय मीडिया संगठनों के लिए काम करने वाले पत्रकारों को भी इंटरनेट सेवा के प्रतिबंध को झेलना पड़ रहा है। अखबारों और समाचार एजेंसियों सहित सभी मीडिया संगठनों की इंटरनेट सेवा पांच अगस्त से बंद है। सभी पत्रकारों के मोबाइल फोन तभी से बंद पड़े हैं।

राज्य के सूचना विभाग ने आखिरकार सोनवार क्षेत्र में पत्रकारों के लिए एक ‘सुविधा केंद्र’ खोला है, जहाँ से वे अपने संबंधित मीडिया संगठनों को समाचार भेज सकेंगे। दूर दराज के इलाकों की किसी भी जानकारी के लिए केवल सरकारी ब्रीफिंग पर ही निर्भर रहना पड़ता है। गत सप्ताह मीडिया कर्मियों ने श्रीनगर में विरोध प्रदर्शन किया और इंटरनेट और मोबाइल सेवा को बहाल करने की मांग की थी।

गोवर्मेन्ट एप्रूव्ड प्लाट व फार्महाउस मात्र रु. 2600/- वर्गगज, टोंक रोड (NH-12) जयपुर में 9314166166

More From state

Trending Now
Recommended