संजीवनी टुडे

गरीबों बेटियों की विवाह योजना बंद, भाजपा का सरकार पर निशाना

संजीवनी टुडे 04-06-2019 16:46:51

प्रदेश की गरीब बेटियों को विवाह के लिये दी जाने वाली सहायता राशि से छत्तीसगढ़ सरकार ने हाथ खींच लिया है।


रायपुर। प्रदेश की गरीब बेटियों को विवाह के लिये दी जाने वाली सहायता राशि से छत्तीसगढ़ सरकार ने हाथ खींच लिया है। जिसे लेकर प्रदेश भाजपा ने कांग्रेस सरकार पर तीखा तंज करते हुए सोशल मीडिया साइट ट्वीटर पर लिखा है, ''सुनिए सरकार! बेटियां समाज का गौरव होती है। गरीब बेटियों की खुशियों पर नजर क्यों लगा रहे हो? ठीक है कि सरकार बनाने के लिए एक बार वोट चाहिए होता है लेकिन, उसे चलाने के लिए दुआओं की रोज जरूरत होती है। जरा रहम कीजिए और कन्यादान का पावन धर्म निभाइये।''

 उल्लेखनीय है कि पूर्व मुख्यमंत्री रमन सिंह की भाजपा सरकार में ’असंगठित कर्मकार विवाह योजना’ के तहत राज्य में 53 वर्ग के कर्मकारों को विवाह के लिए राशि दिया जाता रहा है। इन 53 वर्गों में धोबी, दर्जी,माली, मोची,नाई, बुनकर, रिक्शा चालक, हाथ ठेला चलाने वाले, फुटकर सब्जी फल-फूल विक्रेता, चाय, चाट ठेला लगाने वाले, फुटपाथ ब्यापारी, फेरी लगाने वाले, मुर्रा-चना फोड़ने वाले, ऑटो चालक, टेंट हाउस में काम करने वाले, मछुआरा, शिकारी, देवार, नट-नटनी, पशु पालक, मछली, मुर्गी, 

प्लीज सब्सक्राइब यूट्यूब बटन

बतख पालन में लगे मजदूर, रसोइया, हड्डी बीनने वाले, समाचार-पत्र बांटने वाले हॉकर, सिनेमा घरों में कार्यरत, सोने-चांदी के दुकानों काम करने वाले कारीगर, नाव चलाने वाले, तांगा वाले, बैलगाड़ी चलाने वाले, वनोपज में लगे मजदूर इत्यादि शामिल हैं। इन वर्गों के कर्मकारों के खुद का विवाह या बेटियां, गोद ली गई या सौतेली बेटियां आदि के लिए यह योजना बनाई गई थी। इस योजना के तहत उन्हें 20 हजार रूपये मिलते थे। लेकिन इस योजना को खत्म कर देने से समाज के पिछड़े गरीब वर्गों में कांग्रेस सरकार के प्रति नाराजगी दिख रही है।

मात्र 220000/- में टोंक रोड जयपुर में प्लॉट 9314188188

More From state

Trending Now
Recommended