संजीवनी टुडे

राजस्थान में फिर सियासी ड्रामा, BJP के बहाने आमने-सामने आए गहलोत और पायलट

संजीवनी टुडे 12-07-2020 08:46:38

सीएम गहलोत और डेप्युटी सीएम सचिन पायलट के बीच आपसी खींचतान की चर्चा तेज है।


जयपुर। राजस्थान में सरकार गिराने की साजिश और विधायकाें की खरीद-फराेख्त काे लेकर एसओजी की ओर से केस दर्ज किए जाने के एक दिन बाद शनिवार काे सियासी घटनाक्रम तेजी से पलटा। सुबह कांग्रेस और भाजपा ने एक-दूसरे पर आप लगाए ताे शाम हाेते-हाेते मुख्यमंत्री ने अपने सभी मंत्रियाें काे अपने आवास पर बुला लिया और बैठक की।

इसी बीच अब खबर है कि शनिवार रात से ही कांग्रेस के 24 विधायक हरियाणा के एक होलट में पहुँच चुके है। वहीं, कई विधायकों के मोबाइल फोन स्विच ऑफ मिले राजस्थान में तेजी से बदलते इस राजनितिक घटनाक्रम ने मध्य प्रदेश की यादें ताजा कर दी है। सूत्रों के मुताबिक राजस्थान के सीएम अशोक गहलोत ने जयपुर में देर रात बैठक की। बताया जा रहा है कि इस बैठक में उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट समेत कई विधायक शामिल नहीं हो पायें। 

ashok gehlot

वहीं राज्य सरकार ने इसको लेकर एसओजी का गठन किया है, जो सरकार अस्थिर करने वालों के खिलाफ कार्रवाई करेगी। बताया जा रहा है कि एसओजी की टीम ने शुरूआती कार्रवाई में बीजेपी के दो नेताओं को गिरफ्तार किया है, जिसके बाद माना जा रहा है कि राज्य में राजनीति जंग और तेज हो सकती है। ऐसा माना जा रहा है कि बीजेपी के बहाने राजस्थान के उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट और मुख्यमंत्री अशोक गहलोत आमने-सामने आ गए हैं। 

बता दें कि सीएम गहलोत और डेप्युटी सीएम सचिन पायलट के बीच आपसी खींचतान की चर्चा तेज है। इन चर्चाओं को तब बल मिला, जब शुक्रवार से पायलट दिल्ली में है। साथ ही शनिवार की रात हरियाणा के मानेसर में राजस्थान के 24 विधायक एक बड़े होटल में पहुंचे। यह कुछ वैसी ही स्थिति बनती दिख रही है, जैसे मध्यप्रदेश में ज्योतिरादित्य सिंधिया के समर्थक तमाम विधायक पहले हरियाणा के गुड़गांव और फिर कर्नाटक में जाकर एक रिसोर्ट में ठहरे थे।

Rajasthan  CM Ashok Gehlots government is in danger 24 MLAs arrive in a big hotel in Haryana

बीजेपी के संपर्क में हैं पायलट?
तमाम चर्चाओं के बीच एक चर्चा यह भी है कि पायलट बीजेपी के संपर्क में हैं। सूत्रों के मुताबिक, पार्टी की ओर से जब संपर्क करने की कोशिश की गई तो राजस्थान के कई विधायकों के फोन स्विच ऑफ मिले। पता चला है कि कांग्रेस महासचिव एवं राज्य के प्रभारी अविनाश पांडे भी शनिवार को जयपुर पहुंचे।

उधर राजस्थान की कांग्रेस सरकार को अस्थिर किए जाने के प्रयास के आरोपों पर पलटवार करते हुए भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के प्रदेशाध्यक्ष सतीश पूनियां ने शनिवार को आरोप लगाया कि मुख्यमंत्री अशोक गहलोत एसओजी व एसीबी जैसी एजेंसियों के जरिए निर्दलीय व छोटे दलों के विधायकों को डरा-धमका रहे हैं। 

ashok gehlot

पूनियां ने कहा, मुख्यमंत्री ने एसओजी और एसीबी का भय दिखाकर निर्दलीय और छोटे विधायकों को प्रभावित करने की कोशिश की और अभी भी वो ऐसा ही कर रहे हैं। माकपा के एक विधायक का व्हिप का उल्लंघन कर वोट करना इसका उदाहरण है।

ashok gehlot

इस बीच भाजपा के कई दिग्गज सिंधिया पर तीर चलाने से भी नहीं चूक रहे हैं, लेकिन एक बड़ा सच यह भी है कि सिंधिया भाजपा के शीर्ष नेतृत्व की पसंद बने हैं और हर फैसले में उनकी ही मर्जी चल रही है। सियासी गलियारों में तो बात यहां तक होने लगी है कि सिंधिया को तरजीह देकर भाजपा राजस्थान में भी निशाना साधना चाहती है।

यह खबर भी पढ़े: Rajasthan/खतरे में है सीएम अशोक गहलोत की सरकार, हरियाणा के एक बड़े होटल में पहुंचे 24 विधायक

यह खबर भी पढ़े: क्या गलवान के बाद पैंगोंग झील से भी पीछे हट गई है चीनी सेना ! जानिए क्या कहते है सूत्र?

 

ऐसी ही ताजा खबरों व अपडेट के लिए डाउनलोड करे संजीवनी टुडे एप

More From state

Trending Now
Recommended