संजीवनी टुडे

बुजुर्गों के लिए सॉल्टलेक में अलग गाड़ी रखेगी पुलिस

संजीवनी टुडे 06-03-2019 11:42:35


कोलकाता। कोलकाता के आईटी शहर सॉल्टलेक में अधिकतर संख्या में रहने वाले बुजुर्गों की देखभाल के लिए विधाननगर पुलिस कमिश्नरेट की टीम ने अलग से दो गाड़ियां रखने की व्यवस्था की है। विधाननगर पुलिस कमिश्नरेट के संयुक्त पुलिस आयुक्त (‍अपराध) आवारू रवींद्रनाथ ने बुधवार को यह जानकारी दी। 

उन्होंने बताया कि कमिश्नरेट के अधीन दो अलग से गाड़ियां रखी जाएंगी जिनके जरिए पुलिसकर्मी केवल बुजुर्गों की खोज खबर लेंगे। सुबह-शाम इन गाड़ियों में बैठकर पुलिसकर्मी पूरे इलाके के चक्कर लगाएंगे और अकेले रहने वाले बुजुर्गों से मिलकर उनका हालचाल जानेंगे। प्रत्येक गाड़ी में चार अधिकारी इलाके की गस्ती लगाने के लिए निकलेंगे। हालांकि उन्होंने बताया कि इस सप्ताह के अंत तक ये गाड़ियां शुरू की जा सकती हैं। सॉल्टलेक पूर्व, उत्तर और दक्षिण थाना इलाके में ये गाड़ियां घूमेंगी।

इसके पहले दक्षिण दमदम नगरपालिका ने बुजुर्गों के लिए सभी 35 वार्डों में पार्क बनाने के लिए धनराशि आवंटित की है। पुलिस सूत्रों के अनुसार सॉल्टलेक में वर्तमान में 2.25 लाख लोग रहते हैं जिनमें से 60 प्रतिशत से अधिक बुजुर्ग हैं। उनमें से भी कई ऐसे लोग हैं जो अकेले रहते हैं। ऐसे में उनके अकेलेपन को दूर करने और उनका स्वास्थ्य का ख्याल रखने के लिए पुलिस ने यह नई पहल की है।

 इसके पहले विधाननगर पुलिस कमिश्नरेट ने सांझबाती नाम की एक परियोजना शुरू की थी जिसके तहत प्रत्येक थाने में बुजुर्गों के लिए एक नोडल अधिकारी बनाए गए हैं। इनका मुख्य काम इलाके में रहने वाले बुजुर्गों की देखभाल और उनसे संबंधित मामलों की देखरेख करना है। उसके बाद अब अलग से मिलने वाली गाड़ियों के जरिए अधिकारी घर-घर जाकर बुजुर्गों की खोज खबर लेते रहेंगे।

उल्लेखनीय है कि कोलकाता में कई ऐसी घटनाएं प्रकाश में आई हैं जहां अकेले रहने वाले बुजुर्गों की मौत के कई कई दिनों बाद तक आसपास के लोगों और यहां तक कि परिजनों तक को खबर नहीं लगती है। इस तरह की घटनाएं रोकने के लिए ही पुलिस ने तमाम तरह की पहल शुरू की है। 

More From state

Trending Now
Recommended