संजीवनी टुडे

पीजीआईएमएस के दवा कंपनियों के खर्च पर विदेशी दौरे करने वाले चिकित्सकों पर गिर सकती है गाज

संजीवनी टुडे 14-04-2019 21:57:16


रोहतक। पं. भगवत दयाल शर्मा आर्युविज्ञान संस्थान के प्राइवेट दवा कंपनियों के खर्चे पर विदेशों के दौरे करने वाले डाक्टरों के खिलाफ कार्रवाई करने के लिए स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों ने कमर कस ली है। दवा कंपनियों के खर्चों पर विदेशाी यात्राएं करने वाले डाक्टरों पर लोकसभा चुनाव के बाद गाज गिर सकती है। पीजीआई के निदेशक डा.आरके यादव से सरकार ने फार्मा कंपनियों के खर्चों पर विदेशी दौर करने वाले चिकित्सकों की सूची मांगी है और ये पूछा कि वे बताएं कि विदेशी दौरों पर किस के खर्चे पर गए। अगर अपने खर्चे पर गए हैं तो उसका पूरा विवरण दें।

मात्र 240000/- में टोंक रोड जयपुर में प्लॉट 9314166166

पीजीआई प्रशासन पिछले कई महीनों से डाक्टरों से लिखित में जवाब मांग रहे हैं लेकिन वे जवाब देने से कतरा रहे हैं। चंद डाक्टरों को छोडक़र अभी तक किसी ने भी अभी तक अपने विदेशी दौरा का विवरण व हिसाब किताब नहीं दिया है। अब स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने कड़ा रूख अपना लिया है। स्वास्थ्य विभाग ने पीजीआई निदेशक डा.यादव को पत्र लिखकर जल्दी ही इसका जवाब मांगा है। विभाग ने यह भी चेतावनी दी है कि अगर कोई चिकित्सक अपने विदेशी दौरा का विवरण नहीं देगा तो उसके खिलाफ विभागीय कार्रवाई की जाएगी। सूत्रों के अनुसार निदेशक डा.यादव ने 400 फैकल्टी सदस्यों को नोटिस जारी करके विदेशी दौरों का विवरण मांगा है।

MUST WATCH & SUBSCRIBE

डाक्टरों को नोटिस का जवाब सोमवार तक देना है। निदेशक के पत्र के बाद प्राइवेट दवा कंपनियों के खर्चों पर विदेशों में दौरे करने वाले डाक्टरों मेंं हडकंप मचा हुआ है। अब यह तो सोमवार को ही पता चलेगा कि पीजीआई के फैकल्टी सदस्य अपने विदेशी दौरों का विवरण व खर्चों का विवरण देते हैँ कि नहीं। सूत्रों के अनुसार यह तय है कि अगर डाक्टरों ने अपने विदेशी दौरों का विवरण नहीं दिया तो उनपर गाज गिर सकती है।

More From state

Trending Now
Recommended