संजीवनी टुडे

आतंकियों से मासूम बच्चे को बचाने वाले CRPF जवान पवन के शौर्य को लोग कर रहे सैल्यूट

संजीवनी टुडे 02-07-2020 19:22:32

जम्मू कश्मीर के सोपोर में तैनात केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) के कमांडो और काशी के लाल पवन कुमार चौबे के अदम्य साहस और शौर्य की सराहना पूरे देश में हो रही है।


वाराणसी। जम्मू कश्मीर के सोपोर में तैनात केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) के कमांडो और काशी के लाल पवन कुमार चौबे के अदम्य साहस और शौर्य की सराहना पूरे देश में हो रही है। आतंकियों की गोलियों की बौछार के बीच तीन वर्षीय एक मासूम को बचाने वाले पवन के शौर्य को लोग सोशल मीडिया के जरिये सैल्यूट कर रहे हैंं। पवन का पैतृक गांव सहित पूरी काशी सोशल मीडिया में सुर्खियों में है। 

बहादुर जवान पवन चौबे के बारे में जानकारी मिलने पर गुरूवार को सीआरपीएफ के 95वीं बटालियन के कमांडेंट नरेंद्र पाल सिंह के नेतृत्व में बटालियन के जवान और मीडिया कर्मियों का दल भी पैतृक गांव चौबेपुर कादीपुर स्थित गोलधमकवां चौबान बस्ती में पहुंचा। गांव में कमांडेंट नरेंद्र पाल सिंह ने पवन चौबे के मां-पिता सुभाष चौबे, दादा कल्लू चौबे,जवान की पत्नी का माल्यार्पण कर उन्हें अंगवस्त्रम प्रदान कर सम्मानित किया। इस दौरान कमांडेंट ने पवन की वीरता की जमकर सराहना करने के बाद कहा कि भारत माता के वीर सपूत के माता पिता को हम दिल से सलाम करते हैं,  जिन्होंने ऐसे वीर को जन्म दिया। वीर अपनी जान पर खेलकर सरहदों पर देशसेवा में लगे हुए हैं। देश सेवा में लगे सीआरपीएफ के जवानों ने सोपोर में अदम्य साहस और जज्बे का परिचय दिया है। कमांडेंट से बातचीत के दौरान जवान के माता पिता ने  घर तक आने-जाने वाले मार्ग को बनवाने की मांग की। इस पर कमांडेंट ने कहा कि हम पूरा प्रयास करेंगे। 

जिलाधिकारी से मिलकर पवन चौबे के नाम पर एक किलोमीटर पक्की सड़क बनवाने का प्रयास करेंगे। कमांडेंट ने इस दौरान जवान के बच्चों पुत्र दिव्‍यांश, पुत्री दिव्‍यांशी को दुलार कर मिठाई भी दी। मीडिया कर्मियोें ने भी बहादुर जवान के माता—पिता और पत्नी को बधाई दी तो वे भावुक हो गये। पिता और दादा का सीना गर्व से चौड़ा हो गया। दादा कल्लू चौबे ने कहा कि पवन पर हमें गर्व है। उसने गांव जिले के साथ पूरे देश का नाम रोशन किया है। गांव के निवासी राजेश नामक युवक ने भी कहा कि पवन के बहादुरी पर ​हमें नाज है। 

बताते चले, कश्मीर के सोपोर में आतंकी हमले की सोशल मीडिया पर एक बेहद मार्मिक तस्वीर वायरल हो रही है। जिसमें एक 3 साल का मासूम बच्चा अपने दादा के गोलियों से छलनी रक्तरंजित शव पर बैठ उन्हें उठाने का प्रयास कर रहा है । मासूम इससे बेखबर है कि उसके नाना अब जीवित नही है। मानवता को शर्मसार करने वाली इस आतंकी घटना में आतंकियों से मोर्चा लेने के दौरान सीआरपीएफ का कमांडो पवन ने जब मासूम बच्चे को देखा तो अपने को रोक नही पाया। आतंकियों के धुंआधार फायरिंग के बीच साथियों से कवर फायरिंग लेकर जाबांज पवन ने अपनी जान पर खेल बच्चे को सुरक्षित स्थान पर पहुँचाया। मासूम बच्चा सुरक्षित अपने माता-पिता के पास है। इस घटना का वीडियो वायरल होने पर पूरे देश में लोग पवन के बहादुरी को सैल्यूट कर रहे है। 

काशी के लाल पवन कुमार चौबे 203 कोबरा बटालियन के जवान है। पवन वर्ष 2010 में सीआरपीएफ में भर्ती हुए। कई बार अपने बटालियन के साथ मिलकर मिलकर पवन ने मुठभेड़ में नक्सलियों से डटकर मुकाबला किया। 2016 में पवन जम्मू कश्मीर में तैनात हुए। इसके बाद पवन अपने बटालियन के साथ आतंकियों के खिलाफ कई अभियान में शामिल रहे।

यह खबर भी पढ़े: जगदीश देवड़ा को भी CM शिवराज के मंत्रिमण्‍डल में मिली जगह

यह खबर भी पढ़े: सिंधिया की बुआ यशोधरा एक कद्दावर नेता के रूप में रखती हैं अपनी पहचान, एक बार फिर बनी कैबिनेट मंत्री

ऐसी ही ताजा खबरों व अपडेट के लिए डाउनलोड करे संजीवनी टुडे एप

More From state

Trending Now
Recommended