संजीवनी टुडे

पटना पुलिस को मिली बड़ी सफलता, हत्या के 10 दिनों के बाद 2 हत्यारे गिरफ्तार

संजीवनी टुडे 02-07-2020 21:05:08

पटना पुलिस को मिली बड़ी सफलता, हत्या के 10 दिनों के बाद 2 हत्यारे गिरफ्तार


पटना। संजय लाल की हत्या के 10 दिनों के बाद पटना पुलिस को गुरुवार पहली सफलता मिली। कंकड़बाग पुलिस ने इस मामले में संलिप्त दो लोगों को गिरफ्तार कर लिया है। इनके पास से हत्या में इस्तेमाल  किया गया हथियार भी  पुलिस ने बरामद कर लिया। बताते चलें कि अपराधियों ने 24 जून को पोस्टल पार्क के इंदिरा नगर रोड नंबर एक में रहने वाले संजय लाला के घर में घुसकर उसे गोलियों से भून दिया था। इसका विरोध करने पर अपराधियों ने उसकी बहन संजू सिन्हा को चाकू मारकर गंभीर रुप से जख्मी कर दिया था। फिलहाल उसका पीएमसीएच में इलाज चल रहा है। 

कंकड़बाग थाना प्रभारी ने बताया कि रवि और गोलू  संजय लाला  का पहले दोस्त था। दोनों संजय के लिए ही काम  करते थे लेकिन, हाल के  दिनों में संजय दोनों को पैसा के लिए काफी प्रताड़ित करने लगा था। वह दोनों से रंगदारी भी मांगता   था। पैसा देने से इंकार करने पर कई तरह से प्रताड़ित करता था। इससे परेशान होकर रवि और गोलू ने अपने साथियों के साथ मिलकर उसकी घर में घुसकर हत्या कर दी थी। संजय की  बहन रंजू  ने उन लोगों को पहचान लिया था इसीलिए उसपर भी हमला कर दिया था। रवि ने पुलिस को कहा कि संजय लाला आठ लोगों का एक गिरोह बनाकर राजधानी पटना में अपराध की घटनाएं करता था। 

लॉकडाउन में पुलिस की सख्ती के कारण उसके गिरोह को पैसे की तंगी हो गई थी। इसलिए वह अक्सर गिरोह के सदस्यों से लूट पाट कर पैसा लाने के लिए दबाव बना रहा था, लेकिन वह पुलिस की सख्ती के कारण खुद अपराध करने नहीं जाता था। लूट के पैसे में भी वह  ज्यादा हिस्सा मांगता  था। इसको लेकर गिरोह में उसके प्रति असंतोष व्याप्त हो गया और उसकी घर में घुसकर हत्या कर दी । पुलिस को उसने बताया कि हत्या के बाद वे लोग पोस्टलपार्क से नवरत्नपुर होते हुए बाईपास थाना क्षेत्र में जाकर छुप गए थे। पुलिस को इसकी गुरुवार की सुबह  भनक लगने पर थाना प्रभारी ने स्वंय छापेमारी कर घटना में संलिप्त दो लोगों को गिरफ्तार कर लिया। रवि और गोलू पर राजधानी पटना में हत्या और लूट के कई मामले दर्ज हैं। पुलिस इनका अपराधिक इतिहास खंगाल रही है।   
अपराधी था संजय
इधर, कंकड़बाग थाना प्रभारी अजय कुमार ने बताया कि संजय कुख्यात अपराधी था। उसके ऊपर हत्या समेत कई मामले दर्ज हैं । कुछ माह पहले ही वह जेल से बाहर आया था। अक्सर वह  लूटपाट करता रहता था। 

यह खबर भी पढ़े: देश में अप्रैल 2023 तक निजी ट्रेनों के चलने की संभावना: रेलवे

यह खबर भी पढ़े: मोहिना कुमारी ने एक महीने बाद कोरोना को दी मात, डॉक्टरों के साथ शेयर की सेल्फी

ऐसी ही ताजा खबरों व अपडेट के लिए डाउनलोड करे संजीवनी टुडे एप

More From state

Trending Now
Recommended