संजीवनी टुडे

अस्पताल आने वाले रोगियों को सुविधाओं में कमी नहीं रहे: जिला कलक्टर

संजीवनी टुडे 12-10-2019 22:46:17

जिला कलक्टर ओम कसेरा ने शनिवार को महाराव भीमसिंह चिकित्सालय का निरीक्षण कर वार्डों में दी जा रही सुविधाओं, अस्पताल परिसर की सफाई एवं उपकरणों के रखरखाव के बारे में जानकारी ली।


जयपुर। जिला कलक्टर ओम कसेरा ने शनिवार को महाराव भीमसिंह चिकित्सालय का निरीक्षण कर वार्डों में दी जा रही सुविधाओं, अस्पताल परिसर की सफाई एवं उपकरणों के रखरखाव के बारे में जानकारी ली। उन्होंने ओपीडी से निरीक्षण कार्य प्रारम्भ कर सामान्य वार्ड, आसीयू, ईएनटी वार्ड, पोस्ट ऑपरेटिव वार्ड, आर्थो वार्ड, एक्स-रे-कक्ष, सोनाग्राफ़ी कक्ष का निरीक्षण कर भर्ती रोगियों से अस्पताल प्रशासन द्वारा दी जा रही सुविधाओं की जानकारी ली। 

यह भी पढ़े: समाजसेवी राखी को मिला रोटी बैंक के लिए सेवा समर्पण अवार्ड

निरीक्षण के दौरान जहां-जहां भी सफाई, भवन की मरम्मत के सम्बन्ध में कमियां दिखाई दी उन्होंने अस्पताल प्रशासन एवं सार्वजनिक निर्माण विभाग के अधिकारियों को तकमीना बनाकर कमियां दूर कराने के निर्देश दिये। सामान्य वार्ड में सफाई की कमी पाये जाने पर उन्होंने अधीक्षक को निरन्तर सफाई एवं हवा, रोशनी की व्यवस्था का निरीक्षण कर दुरस्त कराने के निर्देश दिये। ईएनटी वार्ड में भर्ती खातौली निवासी रोगी मकसूद से मिलकर उपचार के बारे में जानकारी ली तथा शीघ्र स्वस्थ्य होने की कामना की। 

जिला कलक्टर ने तीनों एक्स-रे-मशीन एवं सोनाग्राफी कक्ष के निरीक्षण के समय ऐ सोनाग्राफी मशीन बन्द होने की जानकारी मिलने पर मेडिकल रिलीफ सोसायटी से शीघ्र दूरस्त करवाकर रोगियों को सुविधा उपलब्ध कराने के निर्देश दिये। अस्पताल परिसर में सफाई की व्यवस्था के निरीक्षण के समय उन्होंने खुले हॉल सभी बन्द करवाने के निर्देश दिये। परिसर में जमा कचरें के उठाव के लिए उन्होंने अस्पताल संवेदक को पाबन्द करने एवं महिने में एकबार नगर निगम की टीम द्वारा सफाई करवाने के निर्देश दिये। 

अस्पताल के निरीक्षण के दौरान रेजिडेंट डॉक्टरों के प्रतिनिधियों द्वारा अस्पताल से होस्टल तक जाने वाली सम्पर्क सड़क के क्षतिग्रस्त होने की जानकारी देने पर सीसीरोड़ बनवाने की मांग पर  कलक्टर ने मौके पर ही न्यास अधिकारियों को तकमीना बनवाकर क्षतिग्रस्त सड़क का निर्माण करवाने को कहा।
अधिकारियों की बैठक ली। जिला कलक्टर ने अस्पताल में निरीक्षण के बाद प्राचार्य मेडिकल कॉलेज के के कक्ष में अस्पताल प्रशासन, नगर निगम, नगर विकास न्यास, जलदाय एवं सार्वजनिक निर्माण विभाग के अधिकारियों की बैठक लेकर अस्पताल के कमियों को शीघ्र दुरूस्त करने के निर्देश दिये। उन्होंने अस्पताल के खराब उपकरणों की मरम्मत गारंटी पिरीयड में होने पर सम्बन्धित कम्पनी के माध्यम से करवाने एवं शेष का एमआएस मद से करवाने के निर्देश दिये। 
        
उन्होंने 40 करोड़ की लागत से प्रस्तावित नये ओपीडी ब्लॉक के निर्माण की प्रगति के बारे में जानकारी लेकर प्रक्रिया समय पर करने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि भामाशाह योजना का प्रशासनिक मद की राशि का उपयोग उपकरणों के रखरखाव में किया जावे। उन्होंने परिसर में बने सुलभ कॉम्पलेक्स की सफाई एवं मरम्मत के लिए निगम अधिकारियों को निर्देश दिये।  अस्पताल परिसर में आवारा कुत्तों एवं सुवरों को पकड वाने के लिए नगर निगम के अधिकारियों को निर्देशित किया। उन्होंने कहा कि परिसर में खुले में आवारा धुमने वाले सुवरों को पकड कर मालिकों की पहचान कर दुबारा नहीं छोडने के लिए पाबन्द किया । आयुक्त नगर निगम वासुदेव मालावत, यूआईटी सचिव भवानीसिंह पालावत, प्राचार्य मेडिकल कॉलेज डॉ. विजय सरदाना, अधीक्षक एमबीएस डॉ. नवीन सक्सेना, उपखण्ड अधिकारी मोहनलाल प्रतिहार, अधीशाषी अभियंता जलदाय भारत भुषण मिगलानी सहित सम्बन्धित अधिकारी उपस्थित रहे।  

गोवर्मेन्ट एप्रूव्ड प्लाट व फार्महाउस मात्र रु. 2600/- वर्गगज, टोंक रोड (NH-12) जयपुर में 9314166166

More From state

Trending Now
Recommended