संजीवनी टुडे

पलामू : कोरोना वायरस के संक्रमण को लेकर मॉक ड्रिल आयोजित

संजीवनी टुडे 08-04-2020 14:23:03

पलामू जिला मुख्यालय मेदिनीनगर शहर में कोरोना वायरस के संक्रमण की रोकथाम को लेकर मंगलवार की रात मॉक ड्रिल का आयोजन किया गया।


मेदिनीनगर। पलामू जिला मुख्यालय मेदिनीनगर शहर में कोरोना वायरस के संक्रमण की रोकथाम को लेकर मंगलवार की रात मॉक ड्रिल का आयोजन किया गया। स्थानीय चियांकी स्थित डीएवी पब्लिक स्कूल परिसर एवं उसके आसपास के क्षेत्रों में संभावित और चिन्हित मरीज के मद्देनजर विभिन्न तैयारियों और व्यवस्थाओं को लेकर पूर्वाभ्यास किया गया।  आयोजित मॉक ड्रिल में कोरोना वायरस संक्रमण के संभावित मरीजों के त्वरित उपचार हेतु के जाने वाले प्रयास का पूर्वाभ्यास किया गया। इसके माध्यम से यह कोशिश की गई कि कोरोना के मरीज को कैसे एंबुलेंस के माध्यम से अस्पताल लाया जा सकता है और उन्हें कैसे आइसोलेट किया जाएगा। इसमें क्या-क्या सावधानी बरतनी है। इसकी जानकारी दी गई। 

इसके अलावा सैनीटाइज करने, मास्क, टोपी आदि से एहतियात बरतने की जानकारी भी दी गई। मॉक ड्रिल में उपायुक्त डॉ. शांतनु कुमार अग्रहरि, आरक्षी अधीक्षक अजय लिंडा, मेदिनीनगर नगर निगम के नगर आयुक्त दिनेश प्रसाद, सिविल सर्जन डा. जॉन एफ केनेडी सहित विशेषज्ञ चिकित्सक, प्रशासनिक पदाधिकारी एवं पुलिस पदाधिकारी सहित स्वास्थ्य कर्मी शामिल रहे। मॉक ड्रिल के लिए 3 किलोमीटर पर कंटेन्मेंस जोन एवं 7 किलोमीटर पर बफर जोन बनाया गया था। दोनों जोन में 26-26 टीमें लगी हुई थी, ताकि मरीज का ट्रैकिंग किया जा सके और उसके बाद उन्हें आइसोलेट किया जा सके। उसके बाद मैनेजमेंट ऑफ पेशेंट की टीम मरीज की जांच की। पूरे 7 किलोमीटर की सीमा में त्रिस्तरीय टीमें लगी थी। पहली टीम घर-घर जाकर संभावित मरीजों का सर्वेक्षण कर रही थी। वहीं दूसरी टीम क्विक रिस्पांस टीम थी, जो मरीजों की देखभाल और उनके उपचार के संबंध में चिकित्सक के निर्णय पर कार्रवाई कर रही थी। तीसरी टीम सर्विलांस टीम थी, जो चलंत रूप में पहली टीम के सर्वेक्षण रिपोर्ट के आधार पर संभावित मरीजों के संबंध में निर्णय ले रही थी एवं जरूरत पड़ने पर ऐसे संभावित लोगों को आइस्यूलेशन सेंटर में तत्काल शिफ्ट करने का जिम्मा था। दूसरी ओर सिविल सर्जन के नेतृत्व में विशेषज्ञ डाक्टरों की टीम थी, जो संभावित मरीज के स्वास्थ्य जांच के उपरांत यह निर्णय ले रही थी कि संभावित मरीज स्वाब के नमूने लेकर रिम्स रांची को भेजा जाए। इस मॉक ड्रिल के दौरान चिकित्सकों, प्रशासनिक अधिकारियों, पुलिस पदाधिकारियों ने साबित किया कि कोरोना के संक्रमण की स्थिति में पलामू जिला प्रशासन पूरी तरह तैयार है। कोरोना वायरस संक्रमण की रोकथाम एवं उपचार त्वरित गति से किया जा सकेगा। इस संबंध में पलामू उपायुक्त डॉ. शांतनु कुमार अग्रहरि ने स्पष्ट किया किया कि पलामू जिले में अभी तक कोरोना वायरस संक्रमण का कोई भी पॉजिटिव केस नहीं है। ग्रामीण क्षेत्रों में भी मॉक ड्रिल आयोजित किया जायेगा। सिविल सर्जन डॉ जॉन एफ केनेडी ने कहा कि वर्तमान समय तक पलामू में एक भी कोरोना पॉजेटिव केस नहीं है।

यह खबर भी पढ़े: राज्यमंत्री लिखकर सड़क पर बाइक चलना पड़ा महंगा, युवक को पहुंचाया हॉस्पिटल

यह खबर भी पढ़े: तमिलनाडु में कोरोना संक्रमण से 8 लोगों की मौत, संक्रमितों की संख्या बढ़कर हुई 690

ऐसी ही ताजा खबरों व अपडेट के लिए डाउनलोड करे संजीवनी टुडे एप

More From state

Trending Now
Recommended