संजीवनी टुडे

एंटरप्रिन्योर बन प्रोडक्टिव सिटीजन बनें युवा : मुख्य चुनाव आयुक्त

संजीवनी टुडे 19-07-2019 18:31:06

मुख्य चुनाव आयुक्त सुनील अरोड़ा ने कहा कि आज के दौर में स्टूडेंट अपने स्टार्टअप शुरू करके खुद के सीईओ बन रहे हैं।


जयपुर। मुख्य चुनाव आयुक्त सुनील अरोड़ा ने कहा कि आज के दौर में स्टूडेंट अपने स्टार्टअप शुरू करके खुद के सीईओ बन रहे हैं। खुद का सीईओ बनने से एक अलग प्रकार की संतुष्टि मिलती है। भले ही एंटरप्रिन्योर बनने में समय व मेहनत लगती है, लेकिन अगर कोई व्यक्ति 10 लोगों को भी रोजगार दे सकता है तो वह देश की अर्थव्यवस्था के लिए प्रोडक्टिव सिटीजन हैं। मुख्य चुनाव आयुक्त अरोड़ा शुक्रवार को जयपुर के मणिपाल यूनिवर्सिटी में आयोजित ओरिएंटेशन प्रोग्राम को संबोधित कर रहे थे। प्रोग्राम में बीटेक के 1000 से अधिक फ्रेशर्स और उनके पैरेंट्स शामिल हुए।

अरोड़ा ने कहा कि कॉलेज के दौरान परीक्षाओं में सफलता प्राप्त करने के साथ-साथ ज्ञान प्राप्त करना भी महत्वपूर्ण होता है। स्वयं का स्टार्टअप हो या कॉरपोरेट, जब भी कोई काम करना शुरू करता है तो व्यक्ति को यह विश्लेषण करना चाहिए कि वह समाज को क्या लौटा रहा है। उन्होंने कहा कि भारत के पिछले चुनाव में करीब 600 मिलियन से अधिक मतदाता थे और पूर्व के चुनावों की तुलना में महिला मतदाताओं की संख्या भी काफी अधिक थी। अब काफी युवा मतदान करने लगे हैं। मतदान उस बुनियाद के समान है, जिस पर लोकतंत्र का निर्माण होता है।

मणिपाल इंजीनियरिंग एंड मेडिकल ग्रुप के सलाहकार अभय जैन ओरिएंटेशन प्रोग्राम के गेस्ट ऑफ ऑनर थे। उन्होंने जयपुर में मणिपाल यूनिवर्सिटी की शुरूआत पर प्रकाश डाला। उन्होंने कहा कि जयपुर में वर्ष 2011 में मात्र 300 स्टूडेंट्स के साथ यूनिवर्सिटी का अस्थाई परिसर शुरू किया गया था। तब से यूनिवर्सिटी ने 14 राष्ट्रीय पुरस्कार जीते हैं और यह अब दुनिया के टॉप 50 कैम्पस में शामिल हो चुका है। 

अध्यक्षीय भाषण देते हुए प्रोफेसर जीके प्रभु ने कहा कि मणिपाल यूनिवर्सिटी में अध्ययन करना तीन प्रमुख कारणों से लाभदायक है। सबसे पहले मणिपाल यूनिवर्सिटी 54 अंडरग्रेजुएट व पोस्ट ग्रेजुएट कोर्सेज के साथ एक मल्टी डिसिप्लिनरी यूनिवर्सिटी है। यह मल्टी कल्चरल यूनिवर्सिटी भी है। तीसरा कारण यह है कि यूनिवर्सिटी द्वारा लर्निंग, टीचिंग व स्टूडेंट एंगेजमेंट के लिए इनोवेटिव तरीके अपनाए जाते हैं। 

इस अवसर पर एमयूजे के प्रो. प्रेसिडेंट व प्रोफेसर एनएन शर्मा ने यूनिवर्सिटी के आधुनिक पाठ्यक्रम, डिजिटल मैनेजमेंट सिस्टम, ऑनलाइन पाठ्यक्रमों के लिए क्रेडिट्स जैसी शैक्षणिक विशेषताओं की जानकारी दी। 

गोवर्मेन्ट एप्रूव्ड प्लाट व फार्महाउस मात्र रु. 2600/- वर्गगज, टोंक रोड (NH-12) जयपुर में 9314166166

More From state

Trending Now
Recommended