संजीवनी टुडे

बिड़ला घरानेे के तालाब को बंद करने का आदेश

संजीवनी टुडे 12-02-2019 21:52:58


नागदा। देश के जाने-मानेे बिड़ला घराना के उज्जैन जिले के नागदा के समीप करोड़ों की लागत से बने एक तालाब को न्यायाधीश वर्ग एक ने मंगलवार को बंद करने का आदेश दिया है। इस तालाब की भंडरण क्षमता लगभग 60 एमसीएफ टी है, जो कि बनबना तालाब के नाम से जाना है। इस तालाब का निर्माण लगभग 13 वर्ष पहले हुआ था। इस तालाब के निर्माण के लिए जो भूमि उपयोग की गई थी वह शासकीय थी। इस भूमि को प्राप्त करने के लिए ग्रेसिम उद्योग प्रबंधन ने अपनी भूमि उपलब्ध कराकर एक्सजेंच किया था। 

कलेक्टर के आदेश 9 मार्च 2006 के आदेश के तहत भूमि का विनिमय हुआ था। बाद में पंजीयन कार्यालय से बकायदा 19 जुलाई को भूमि के विनिमय को पंजीयन हुआ। तालाब निर्माण को जब कार्य शुरू हुआ था तब गांव टकरावदा के लोगों ने यह मामला उठाया था कि जो शासकीय भूमि उपलब्ध कराइ है वह चरनोई अर्थात गोचर जमीन है। 

जयपुर में प्लॉट मात्र 2.30 लाख में Call On: 09314188188

उस समय न्यायालय में उद्योग के एक बड़े अधिकारी ने अदालत में अन्छरटैकिंग दिया था कि यदि निर्णय उद्योग के खिलाफ आया तो तालाब को बंद कर देंगे। लगभग 12 वर्षो तक चली इस लड़ाई के बाद ग्रामीणों को सफलता मिली है। न्यायाधीश राकेश जमरा ने भूमि विनिमय ओदश को भी खारिज कर दिया है।

MUST WATCH & SUBSCRIBE

साथ ही पंजीयन कार्यालय के पंजीयन को भी शुन्य करार दिया है। तालाब को बंद करने के लिए बकायदा अदालत ने 2 माह का समय निर्धारित किया है। इस निर्णय की खबर से क्षेत्र में बड़ी चर्चा हुई है। अदालत में ग्रामीणों की और से पैरवी अभिभाषक केशव रघुवंशी ने की।
 

More From state

Loading...
Trending Now
Recommended